राजनीति

गहलोत vs पायलट: क्या बीजेपी के पास जाएगी सत्ता? 10 प्वाइंट...

0

जयपुर. राजस्थान के राजनीतिक बवाल पर अब पूरे देश की नजर है। एक तरफ अशोक गहलोत के अध्यक्ष पद के नामांकन की संभावनाएं बनने लगी हैं। तो वहीं राजस्थान में नए मुख्यमंत्री का चयन आपस में उलझ गया है। गहलोत गुट के विधायकों के बगावत करने पर अब हर कोई अपने-अपने कयास लगा रहा है। आपको आसान बिंदुओं में समझाते हैं कि अब नियम क्या कहता है और अब प्रदेश की राजनीति में क्या-क्या हो सकता है...। 

इन 10 बिंदुओं से समझें किसके लिए क्या-क्या संभावनाएं हैं...?

1. सीएम अशोक गहलोत के राजनीतिक कैरियर पर रविवार को हुआ बवाल एक दाग की तरह सामने आ रहा है। माना जा रहा है कि आलाकमान इससे खुश नहीं है और इसके चलते अब कई नेताओं को इसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। 

2. यह भी संभावना है कि दोनों ही पक्षों की बगावत के बाद अब आलाकमान यानि सोनिया और राहुल गांधी किसी तीसरे को सीएम पद सौंप सकते हैं। 

3. राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि इन सबमें दिल्ली के भी किसी नेता का हाथ होना बताया जा रहा है, सीएम अशोक गहलोत इस तरह के खेल को अकेला नहीं रच सकते हैं। 

4. अब अगर राजस्थान की भाजपा चाहे तो विधानसभा में कांग्रेस के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव ला सकती है। फिर बहुमत परीक्षण की मांग कर सकती है। 

5. भाजपा अगर ऐसी मांग कर लेती है तो इस हालत में कांग्रेस को बहुमत साबित करना होगा, जबकि कांग्रेस अभी खुद ही पूर्ण बहुमत में नहीं है। 

6. भाजपा के पास फिलहाल 71 विधायक हैं। अब अगर कांग्रेस और समर्थक दलों के करीब तीस विधायक भी सचिन तोड़ लेते हैं तो कांग्रेस की सरकार गिरना लगभग तय है, ऐसे हालत में वे भाजपा के साथ मिलकर सरकार बना सकते हैं। 

7. सबसे बड़ी बात, अगर दोनों ही पार्टियां पूर्ण बहुमत पेश नहीं कर पाती हैं तो राज्यपाल विधानसभा भंग कर सकते हैं और राष्ट्रपति शासन लगा सकते हैं। ऐसे में फिर नए तरह से विधानसभा चुनाव होंगे और दोनों ही पार्टियों को शून्य से शुरुआत करनी होगी।

8. राष्ट्रीय अध्यक्ष की कुर्सी को लेकर चर्चा करने आए माकन और खडगे सोमवार दोपहर बाद दिल्ली पहुंच चुके हैं और वे सीधे सोनिया गांधी से मुलाकात कर उनको रिपोर्ट सौपने वाले हैं। 

9. इस रिपोर्ट के बाद सोमवार शाम तक या कल तक सोनिया गांधी सचिन पायलेट और अशोक गहलोत दोनों को दिल्ली बुला सकती है। 

10. इसके लिए भी गहलोत गुट के पास प्लान बताया जा रहा है, बताया जा रहा है कि वे चुनिंदा नेताओं के साथ दिल्ली जाएंगे, ताकि उनका पक्ष रखा जा सके। अकेले जाने की संभावना बेहद कम हैं।

यह भी पढ़ें-विधायकों ने अजय माकन से कहा- सचिन नहीं बनें सीएम, 102 विधायक पायलट के खिलाफ

यह भी पढ़ें-राजस्थान के नए CM के लिए गहलोत गुट ने रखी शर्त, अजय माकन बोले- इससे अशोक गहलोत को होगा बड़ा नुकसान

भारत

दिल पर हाथ रखकर सोचिए.. आपको कॉमेडी के नाम पर क्या-क्या...

0

अपन हैं सख्त लौंडे! ब्रो मुझे भी ये करना है! You know his ***** is that big! धत तेरी *******! मुझे तेरा मुंह बिल्कुल पसंद नहीं आया! आ थू! भाई एक बात बताओ, हंसी आती है क्या ऐसी कॉमेडी को सुनकर और अगर हां, तो आप बहुत ही बड़े बौड़म प्रसाद हो और ‘डपोरशंख झिंगालू […]

यह लेख कॉमेडी के नाम पर हमारे सामने क्या-क्या नहीं परोसा जा रहा है? सर्वप्रथम TFIPOST पर प्रकाशित हुआ है

अंतर्राष्ट्रीय

ईरानः हिजाब पर एक लड़की की मौत ने लगा दी आग,...

0

तेहरान। ईरान में 16 सितंबर को 22 साल की महसा अमीनी (Mahsa Amini) की पुलिस हिरासत में मौत के बाद उग्र विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। महिलाएं हिजाब के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहीं हैं। इसमें उन्हें पुरुषों का भी सपोर्ट मिल रहा है। वहीं, ईरान की कट्टरपंथी सरकार बल प्रयोग कर विरोध दबाने की कोशिश कर रही है। विरोध प्रदर्शनों में अब तक 41 से अधिक लोगों की मौत हुई है और 700 से अधिक को गिरफ्तार किया गया है। 

हिजाब विरोधी प्रदर्शन के दौरान मारे गए एक युवक जावद हेयदी के अंतिम संस्कार का एक वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया गया है। वीडियो में दिख रहा है कि बहन अपने भाई के पार्थिव शरीर पर अपने बाल काटकर डाल रही है। महसा अमीनी की मौत के बाद ईरान में बड़ी संख्या में महिलाओं ने अपने बाल काटकर और हिजाब जलाकर वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किए हैं। महिलाओं द्वारा अपने बाल काटना और हिजाब जलाना कट्टरपंथी सरकार के विरोध का शक्तिशाली प्रतीक बन गया है। 

 

 

वीडियो में दिख रहा है कि अंतिम संस्कार के वक्त महिलाएं विलख रहीं हैं। पार्थिव शरीर पर फूल डाला गया है। इस दौरान जावद हेयदी की बहन अपने बालों को काटती है और उसे पार्थिव शरीर पर रखती है। ईरानी पत्रकार और कार्यकर्ता मसिह अलिंजाद ने कहा कि महिलाएं बाल काटकर अपने दुःख और गुस्से को दिखाने की कोशिश कर रही हैं।

यह भी पढ़ें- ईरान: महसा अमीनी के बाद एक और लड़की की हत्या, पुलिस ने 20 साल की नजफी को मारी 6 गोलियां

महसा अमीनी की मौत से फैला आक्रोश
गौरतलब है कि ईरान की नैतिकता पुलिस 13 सितंबर सिर न ढंकने के आरोप में महसा अमीनी (Mahsa Amini) को हिरासत में लिया था। इस दौरान पुलिसर्मियों ने महसा को घसीटा था और उसके साथ धक्का-मुक्की की थी। उसे घसीटकर कार में डाल दिया गया था। आरोप है कि पुलिसकर्मियों ने महसा के साथ मारपीट की। 16 सितंबर को पुलिस हिरासत में महसा अमीनी की मौत हो गई थी। इसके बाद से ईरान में उग्र विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं।

यह भी पढ़ें- बेहद डरावने हैं ईरान में महिलाओं के लिए बने कानून, बाप कर सकता है बेटी से शादी, पुलिस को है पीटने का अधिकार
 

अपराध

उत्तर प्रदेश

रामपुर: देवर-ननदोई समेत 3 ने किया गैंगरेप, शिकायत करने पर पति...

0

रामपुर: उत्तर प्रदेश के रामपुर जिले में दहेज की मांग पूरी न होने पर ससुराल वालों ने महिला के साथ मारपीट कर उसे प्रताड़ित करना शुरूकर दिया। ससुराल पक्ष दहेज में 2 लाख रुपए की मांग के साथ आल्टो कार और एक भैंस मांग रहे हैं। इसके अलावा देवर, ननदोई व एक अन्‍य व्यक्ति ने महिला के साथ सामूहिक दुश्कर्म किया है। पीड़िता ने बताया कि जब उसने मामले की जानकारी अपने पति को दी तो पति ने घरवालों से सवाल-जवाब करने के बजाय उसके साथ मारपीट करते हुए तीन तलाक दे दिया। 

ससुर के लात मारने पर महिला का हुआ गर्भपात
महिला ने पुलिस अधीक्षक के आदेश पर पति समेत सात लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई है। टांडा क्षेत्र के एक गांव निवासी महिला ने बताया कि पांच महीने पहले उसकी शादी मुरादाबाद थाना भोजपुर के एक गांव निवासी युवक से हुई थी। उसके पिता ने शादी में 12 लाख रुपए खर्च किए थे। लेकिन इसके बाद भी ससुराल पक्ष लगातार उस पर और दहेज लाने का दबाव बना रहा था। विरोध करने पर पीड़िता के ससुर ने उसके पेट पर लात मार दी। जिससे महिला का एक माह का गर्भपात हो गया। 

शिकायत करने पर पति ने दिया तीन तलाक
पीड़िता ने ससुराल वालों पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह अपने कमरे में अकेले लेटी हुई थी। उस दौरान उसका पति घर से बाहर गया हुआ था। तभी उसका देवर, ननदोई व एक अन्य व्यक्ति जबरन उसके कमरे में घुस आए और महिला की कनपटी पर तमंचा रख उसे जान से मारने की धमकी देकर तीनों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। इसके बाद जब उसका पति घर वापस आया तो उसने पति से इस बात की शिकायत की तो पति ने उसे तीन तलाक देकर कमरे में बंद कर दिया। पीड़िता ने बताया कि वह किसी तरह से भागकर अपने मायके आई है। वहीं थाना प्रभारी अजयपाल सिंह ने बताया कि मामले की जांच कर उचित कार्रवाई की जाएगी।

रामपुर: किशोरी के पेट दर्द ने खोली सामूहिक दुष्कर्म की पोल, पंचायत ने सुनाया एक और दर्दनाक फैसला

मेरठ: रेप करने में हुआ नाकाम तो खौफनाक कदम उठाया शोहदा,...

0

मेरठ: उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में शोहदे से तंग आकर एक छात्रा ने स्कूल जाना बंद कर दिया। पीड़िता कक्षा 9 की छात्रा है। कई दिनों से एक मनचला छात्रा को परेशान कर रहा था। बताया जा रहा है कि शोहदे ने छात्रा को जबरन तेजाब पिलाकर उसकी हत्या का प्रयास किया है। आरोप है कि मनचले ने कुछ दिन पहले पीड़िता से छेड़छाड़ की थी। विरोध करने पर आरोपी ने छात्रा के मुंह पर ज्वलनशील पदार्थ डाल दिया। जिससे उसकी हालत काफी बिगड़ गई। इलाज के लिए वह दो दिन अस्पताल में भर्ती रही। 

शोहदे से तंग आकर छात्रा ने स्कूल जाना किया बंद
वहीं जब पीड़िता आरोपी के खिलाफ शिकायत लेकर कंकरखेड़ा पुलिस के पास पहुंची तो पुलिस ने मामले पर लापरवाही दिखाते हुए कार्रवाई नहीं की। पीड़िता ने बताया कि स्कूल आने-जाने के दौरान उसके पड़ोस में रहने वाला युवक उसे कई महीनों से परेशान करता और छात्रा का पीछा करता था। इस हरकत से तंग आकर पीड़िता ने स्कूल जाना बंद कर दिया। इसके बाद कुछ दिनों पहले जब वह अपने घर की साफ-सफाई कर रही थी तो आरोपी युवक ने उसे इशारा कर बात करने के बहाने बुला लिया। 

आरोपी ने पीड़िता के मुंह में डाला ज्वलनशील पदार्थ
इस दौरान आरोपी छात्रा को लेकर एक खाली प्लॉट में गया और उससे दुष्कर्म की कोशिश की। दुष्कर्म में विफल होने पर आरोपित ने शौचालय की साफ-सफाई में इस्तेमाल होने वाला तेजाब किशोरी को पिला दिया। छात्रा द्वारा शोर मचाने पर आसपास के लोग मौके पर एकत्र हो गए और आरोपी को दबोच लिया। पीड़िता ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस ने मामले पर कार्रवाई करने के बजाय आरोपी को छोड़ दिया। इसके बाद वह न्याय की आस लेकर एसएसपी ऑफिस पहुंच गई और इंसाफ की गुहार लगाई है। वहीं सीओ सदर देहात पूनम सिरोही ने मामले को संज्ञान में लेकर पुलिस को आरोपी के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

मोनू बनकर आरिफ ने महिला के साथ किया रेप, अश्लील वीडियो देख युवक का दोस्त भी बना दरिंदा

IIT कानपुर: 2.3 करोड़ का सबसे बड़ा पैकेज, 273 छात्रों को...

0
देश-दुनिया में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) के होनहारों की मांग लगातार बढ़ रही है। सत्र 2022-23 का प्लेसमेंट ड्राइव शुरू होने में तीन महीने बचे हैं और आईआईअी कानपुर के 273 छात्रों को बढ़िया पैकेज पर नौकरी मिल गई। प्री-प्लेसमेंट ऑफर के तहत विभिन्न मल्टीनेशनल कंपनियों ने इन स्टूडेंट्स को औसतन 22 लाख रुपये के […]

मोदी-योगी से मदद की गुहार लगाई मासूम शारा, इलाज के...

0

देवरिया: उत्तर प्रदेश के जिले देवरिया में मासूम छात्रा ने जिला प्रशासन से लेकर केंद्र सरकार तक अपनी जान की गुहार लगाई है। इससे पहले वह अपनी जान को बचाने के लिए कई लोगों से विनती की लेकिन अभी तक सिर्फ आश्वासन ही मिला पर किसी ने उसके इलाज के लिए कोई व्यवस्था नहीं की। इसी वजह से छात्रा ने जिला प्रशासन, राज्य सरकार और केंद्र सरकार से मदद की गुहार लगाई है। छात्रा शहर के एक नामी स्कूल में कक्षा पांच की छात्रा है।

स्पाइनल मस्कुलर एट्रॉफी नामक बिमारी से है ग्रसित
जानकारी के अनुसार शहर के जिला मुख्यालय के अबूकनगर की रहने वाली 13 वर्षीय छात्रा शारा फातमा लारी स्पाइनल मस्कुलर एट्रॉफी नामक बीमारी से ग्रसित है। इस गंभीर बीमारी से पीड़ित शारा फातमा के पिता अबूज लारी का कहना हैं कि जब वह पैदा हुई तो कुछ महीनों के बाद भी इसके शरीर में कोई मूवमेंट नहीं हुई। उसके बाद उसको वह दिल्ली के गंगाराम हॉस्पिटल में इलाज के लिए गए तो वहां के डॉक्टरों ने इसे स्पाइनल मस्कुलर एट्रॉफी नामक बीमारी से ग्रसित बताया। चिकित्सकों के द्वारा बताई गई इस बिमारी पर यकीन नहीं हुआ तो एम्स गए। वहां के डॉक्टरों ने यही बीमारी बताई। 

परिजन ने छात्रा के नाम से खोला अलग अकाउंट
बेटी को बचाने के लिए पीड़ित परिवार ने केंद्र और राज्य सरकार से गुहार लगाई है। इसके लिए उन्होंने एक अलग से अकाउंट भी खोला है। इसी अकाउंट में लोगों से पैसा जमा करने की अपील की है ताकि वह अपनी बेटी का इलाज करा सके। कक्षा पांच में पढ़ने वाली छात्रा शारा फातमा लारी को बड़े होकर वैज्ञानिक बनना है ताकि वह उस बीमारी से रिसर्च कर सके जिससे वह ग्रसित है। इस बीमारी पर रिसर्च के बाद कोई इससे पीड़ित न हो। घरवालों का कहना है कि पूरे भारत देश में लगभग 400 बच्चे इस बीमारी से ग्रसित हैं लेकिन इसकी दवा भारत में अभी नहीं बनी है। इस बीमरी से संबंधित दवा सिर्फ स्विट्जरलैंड और अमेरिका ने ही बनाई है। छात्रा के परिजन का कहना है कि अगर राज्य और केंद्र सरकार मदद करें तो उनकी लड़की अपने पैरों पर खड़ा हो सकती है।

12 साल पहले वैज्ञानिकों ने किया था रिसर्च
आपको बता दें कि 12 साल पहले इस बीमारी पर वैज्ञानिकों ने रिसर्च किया था। उस समय तक इसकी कोई दवा भी नहीं बनी थी लेकिन अब इसकी दवा केवल विश्व के दो देश में बनती है, वह अमेरिका और स्विट्जरलैंड हैं। इसको लाने का खर्च करीब 10 करोड़ है लेकिन पीड़ित परिवार के पास इतने पैसे नहीं हैं कि वह अपनी बच्ची की जान को बचाने के लिए इतनी रकम का इंतजार कर सकें। परिजन ने बताया कि उनको डॉक्टरों ने बताया था कि पहले रीढ़ की हड्डी का ऑपरेशन होगा। उसके बाद स्प्रीनरजा न्यूसीरनसीन और रीजट्रीप्लांम दो ऐसी दवाएं हैं, जो इसकी रीढ़ की हड्डी में इंजेक्ट की गई जाएगी। इसके बाद ही बच्ची अपने पैरों पर खड़ी हो पाएगी। इसी इलाज में खर्च 10 करोड़ आएगा।

चंदौली में महिला पंचायत सहायक के साथ प्रधान के बेटों की करतूत आई सामने, पीड़िता ने एसपी को बताई पूरी आपबीती

धर्म-कर्म

बिजनस

ऑटो

स्पोर्ट्स

ऑस्ट्रेलिया को हराने के बाद धोनी की परंपरा तोड़ दिए रोहित शर्मा, वीडियो देख...

0
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 के पहले मैच में पिछड़ने के बाद भारत ने अगले दो मैचों में बढ़त बनाकर 2-1 से सीरीज जीत ली।

बड़ा खुलासाः तपते बुखार के बावजूद भारतीय जर्सी पहने सूर्या, और फिर कुचल गया...

0

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हैदराबाद में खेले गए तीसरे टी-20 मुकाबले में सूर्यकुमार यादव और विराट कोहली […]

The post IND vs AUS: बुखार के बीच जर्सी पहनते ही सूर्यकुमार यादव ने खेली तूफानी पारी, मैच के बाद किया खुलासा appeared first on .

Video : हार्दिक ने DK से फिर कहा- ‘मैं हूँ ना..’, फिर चौका जड़...

0

Ind vs Aus 2022: हार्दिक पांड्या के नाबाद 33 रनों के साथ शांत भरी पारी ने अभी पिछले महीने चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ एशिया कप में तनावपूर्ण पीछा करते हुए अंतिम ओवर में विजयी छक्का लगाकर भारत को मैच जिताया था। वैसा ही कुछ कल भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच मैच में हुआ टीम […]

The post Ind vs Aus 2022: हार्दिक पांड्या ने दिनेश कार्तिक से फिर कहा ‘मैं हूँ ना’ और चौका जड़ इंडिया को जिताया मैच, देखें Video appeared first on DNP INDIA HINDI.

हेल्थ

फर्टिलिटी डॉक्टर ने बताया- ये 5 काम करने से पुरुष हो सकते हैं नपुसंक!

0

हेल्थ डेस्क. बीते कुछ सालों में पुरुषों का स्पर्म काउंट (Sperm Count)  कम होता जा रहा है। ज्यादातर पुरुषों को इस बात का भी कोई अंदाजा नहीं होता कि लाइफस्टाइल और डाइट के कारण भी स्पर्म काउंट कम होता है। फर्टिलिटी डॉक्टर ने उन पांच चीजों के बारे में बताया जो स्पर्म को प्रभावित करते हैं। जिसकी वजह से पुरुष संतानसुख से वंचित हो सकते हैं। डॉक्टर ने उन कामों का जिक्र किया जो हर पुरुष को उससे बचने के लिए प्रोत्साहित करेंगी।

अपने इंस्टाग्राम पर फर्टिलिटी डॉक्टर नताली क्रॉफर्ड (Natalie Crawford) ने वीडियो शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा,'मैं अपने पार्टनर को फर्टिलिटी डॉक्टर के रूप में कौन सी पांच चीजें कभी नहीं करूंगी?

ये पांच काम पुरुषों को नहीं करने चाहिएं

नंबर 1- उसे कभी धूम्रपान नहीं करने दूंगी। यह स्पर्म के लिए काफी खतरनाक होता है। इससे स्पर्म काउंट ना सिर्फ घट जाते हैं, बल्कि उसकी क्वालिटी भी खराब हो जाती है। 

नंबर 2- मारिजुआना यानी गांजा का उपयोग नहीं करने दूंगी। इससे मस्तिष्क और स्पर्म दोनों प्रभावित होते हैं। स्पर्म के साइज और प्रोडक्शन दोनों कम हो जाते हैं।

नंबर 3- गोद में लैपटॉप लेकर पुरुषों को कभी बैठना नहीं चाहिए। हिट वास्तव में अंडकोष (testicles) के तापमान को बढ़ाती है। जिससे स्पर्म प्रभावित होता है। स्पर्म का आकार असामान्य रूप से बढ़ता है।

नंबर 4-प्रोसेस्ड मीट का सेवन ज्यादा नहीं करना चाहिए। प्रोसेस्ड मीट में बहुत सारे रसायन होते हैं। यह स्पर्म के लिए बिल्कुल खराब हैं।

नंबर5- टेस्टोस्टेरोन या एनाबॉलिक स्टेरॉयड का उपयोग नहीं करना चाहिए। सेक्स के लिए पुरुष टेस्टोस्टेरोन या एनाबॉलिक स्टेरॉय का प्रयोग करते हैं। लेकिन यह स्पर्म को किल कर देता है। इसके उपयोग से महीनों या सालों तक आपके पास कोई स्पर्म नहीं होगा। 

फर्टिलिटी डॉक्टर के इस पोस्ट को अब तक 210 K से ज्यादा लोगों ने पसंद किया है। लोग इस सूचनात्मक जानकारी को पाकर खुश हैं। बता दें कि स्पर्म का लाइफ तीन महीने ही होता है। पुरुषों में स्पर्म बनता रहता है।

बीते कुछ सालों में पुरुषों के स्पर्म काउंट घटे हैं

एक स्टडी में बताया गया है कि बीते 38 सालों में पुरुषों के स्पर्म काउंट 59 प्रतिशत तक कम हुआ है। इसका सीधा असर पुरुषों के फर्टिलिटी पर भी पड़ता है। अधिकतर कपल्स को बच्चा पैदा करने में मुश्किल का सामना करना पड़ता है।

और पढ़ें:

9 बार बच्चा खोने के बाद महिला को पैदा हुआ 'चमत्कारी बेटा', अब करती है वो इनके लिए काम

सीने में दर्द ही नहीं, ये 9 लक्षण भी हार्ट अटैक के हो सकते हैं, मौत से बचने के लिए पहचाना जरूरी

ये 7 दवाइयां आपके सेक्स ड्राइव को कर सकती है कम, एक तो बना सकती है नपुसंक

गर्दन में अकड़न होने पर करें ये घरेलू उपचार, फौरन मिलेगा आराम

0
गर्दन में अकड़न की समस्या होने पर आपको चलने-फिरने और गर्दन को घुमाने में परेशानी होती है. इसके साथ ही इस समस्या की वजह से आपकी रोजमर्रा की जिंदगी प्रभावित होती है. कई लोगों को सिर घुमाने पर कड़कड़ाहट की आवाज आती है. अगर आप लगातर गर्दन के अकड़न से परेशान हैं तो इसके लिए […]

गुलाबी-सफेद ड्रैगन फ्रूट में है बड़ा दम, इन बीमारियों के खतरे को कर देता...

0
ड्रैगन फ्रूट्स कई तरह के पोषक तत्वों से भरपूर होता है, जो कई बीमारियों को दूर करने में आपकी मदद कर सकता है. यह स्किन से लेकप बालों की परेशानियों को कम कर सकता है. साथ ही डायबिटीज में भी ड्रैगन फ्रूट्स काफी हेल्दी माना जाता है. इसमें फैटी एसिड, विटामिन सी, विटामिन ए, कैल्शियम […]

मनोरंजन

लाइफ स्टाइल

टेक्नॉलजी