खेलजरा हट के

WTC फाइनल के लिए भारत में ही बायो-बबल में जाएगी टीम इंडिया, फिर 10 दिन होगी क्वारंटाइन, क्यों?

भारतीय क्रिकेट टीम के उन प्लेयर्स की घोषणा हो चुकी है, जो आगामी इंग्लैंड दौरे और वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल खेलने इंग्लैंड रवाना होगी. भारतीय टीम इंग्लैंड में 3 महीने से अधिक समय तक रहेगी, WTC फाइनल के अलावा इंग्लैंड के विरुद्ध 5 टेस्ट मैचों की सीरीज खेलेगी. इंग्लैंड रवाना होने से पहले भारतीय क्रिकेट टीम के लिए भारत मे बायो बबल तैयार किया जाएगा. इंग्लैंड दौरे में शामिल सभी भारतीय प्लेयर्स और स्टाफ को 25 मई तक भारत मे बने बायो बबल में शिफ्ट होना पड़ेगा. प्लेयर्स 8 दिन तक भारत मे ही बायो बबल में रहेंगे, इसके बाद प्लेयर्स 2 जून को इंग्लैंड पहुंचेंगे और अगले 10 दिन तक क्वारंटाइन अवधि को पूरा करेंगे.

2 भागों में भारतीय टीम का बायो बबल

भारतीय क्रिकेट टीम के लिए 2 भागों में बायो बबल तैयार किया जाएगा. पहला बायो बबल 8 दिन का भारत में होगा, यहां प्लेयर्स सुरक्षा से बाहर कहीं नहीं जा सकेंगे. इस दौरान सभी प्लेयर्स और स्टाफ को कई टेस्टिंग राउंड से गुजरना होगा, प्लेयर्स की कोरोना टेस्टिंग की जाएगी. सभी प्लेयर्स चार्टेड प्लेन से इंग्लैंड के लिए रवाना होंगे. टीम 2 जून को इंग्लैंड पहुंचकर दूसरे बायो बबल में शिफ्ट कर जाएगी, जहां सभी को 10 दिन का क्वारंटाइन पूरा करना होगा. हालांकि भारत में बायो बबल से आने के कारण इंग्लैंड में सभी प्लेयर्स अभ्यास शुरू कर सकेंगे.

परिवार के साथ जाएंगे खिलाड़ी!

बोर्ड अधिकारी के हवाले से मीडिया रिपोर्ट में कहा गया कि, वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल और इंग्लैंड के विरुद्ध पहले टेस्ट मैच में करीब 1 महीने का अंतर है. वहीं भारतीय प्लेयर्स इंग्लैंड दौरे पर 3 महीने से अधिक समय तक रहेंगे, ऐसे में दौरे पर प्लेयर्स परिवार संग सफर कर सकेंगे.

वहीं बोर्ड प्लेयर्स की वैक्सीनेशन प्रक्रिया किस तरह पूरी की जाए, इस पर भी विचार कर रहा है. एएनआई से बातचीत में बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया, भारत सरकार ने 18 वर्ष से अधिक आयु वालों की वैक्सीनेशन को मंजूरी दे दी है. प्लेयर्स भारत में वैक्सीन का पहला डोज लगवा सकते हैं, वहीं प्लेयर्स की दूसरी डोज कैसे लगेगी, इसपर विचार चल रहा है. इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के साथ मिलकर सुनिश्चित किया जा रहा है कि प्लेयर्स को इंग्लैंड में वैक्सीन की दूसरी डोज लग सके. इंग्लैंड से इसकी मंजूरी नहीं मिलने पर हम प्लेयर्स के लिए भारत से ही वैक्सीन लेकर इंग्लैंड जाएंगे, देखना होगा कि आगे इसको लेकर क्या फैसला किया जाता है.

Back to top button