देशराजनीति

गुरुद्वारे की दानपेटी में नोट डालते-डालते रुक गए राहुल गांधी, क्यों?

राहुल गांधी ने गुरुद्वारे में दान के लिए निकाले 500 रुपये, फिर वापस जेब में रखा नोट

 

  • चुनाव की तैयारियों में कांग्रेस अब किसी भी तरीके की गलती नहीं करना चाहती, राहुल भगवान को मानाने  में जुटे है पहले भोले बाबा अब गुरुद्वारे में दर्शन बताते चले  मध्य प्रदेश के ग्वालियर में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मंगलवार को गुरुद्वारा ‘दाताबंदी छोड़’ में माथा टेकने पहुंचे थे. इस दौरान एक दिलचस्प वाकया देखने मिला.

  • राहुल गांधी ने गुरुद्वारे में दान के लिए निकाले 500 रुपये, फिर वापस जेब में रखा नोट

    एक स्थानीय हिंदी अखबार के मुताबिक, यहां माथा टेकने के बाद जैसे ही राहुल ने गुरुद्वारे के गुल्लक (दानपेटी) में पैसे डालने के लिए 500 रुपये का नोट निकाला तो पीछे खड़े सांसद ज्योतिरादित्य ने उन्हें आचार संहिता याद दिलाई. यह सुनते ही राहुल ने नोट वापस जेब में रख लिया.

  • राहुल गांधी ने गुरुद्वारे में दान के लिए निकाले 500 रुपये, फिर वापस जेब में रखा नोट

    मालूम हो कि ग्वालियर-चंबल संभाग के अपने दौरे की शुरुआत राहुल गांधी ने ग्वालियर में इसी गुरुद्वारे से की थी. यहां उनके साथ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया और दीपक बावरिया भी थे.

  • राहुल गांधी ने गुरुद्वारे में दान के लिए निकाले 500 रुपये, फिर वापस जेब में रखा नोट

    यहां राहुल ने गुरुद्वारे में माथा टेका और मन्नत मांगी. गुरुद्वारा समिति ने राहुल का स्वागत और सम्मान किया.

  • राहुल गांधी ने गुरुद्वारे में दान के लिए निकाले 500 रुपये, फिर वापस जेब में रखा नोट

    बता दें कि इसके पहले कांग्रेस अध्यक्ष ने अपने ग्वालियर-चंबल संभाग के दौरे की शुरुआत पीतांबरा शक्ति पीठ में पूजन से की. उसके बाद ग्वालियर में अचलेश्वर महादेव मंदिर में पूजा की और फिर मोती मस्जिद भी गए.

 

Back to top button