धर्म

रमजान में क्यों किया जाता है खजूर का सेवन, सच्चाई जानकर मुसलमान भी रह गए हैरान

Image result for रमजान   खजूर

वैसे तो खजूर को हर मौसम में खाया जा सकता है. इसमें प्रोटीन, विटामिन और मिनरल्स जैसे तत्व मौजूद होते हैं जो कि हमारे शरीर को शक्ति प्रदान करते हैं. आपको बता दें कि जिन लोगों को थकान ज्यादा महसूस होती है उनको रोजाना 3 खजूर खाने चाहिए रोजाना सुबह नाश्ते से पहले तीन खजूर खाएं फिर बाद में पानी पी लेना चाहिए. इस उपाय को आप कम से कम 1 महिने तक करें फिर देखों एसे फायदे.इस

बीच बताते चले  रमजान का महीना  शुरु हो रहा है। इस महीने में मुस्लिम समुदाय के लोग पूरे महीने रोजे रखते हैं। इसमें मुस्लिम सुबह सहरी के वक्त खाना खाते हैं और फिर पूरे दिन कुछ भी खाते पीते नहीं। फिर शाम को इफ्तार के बाद रोजा खोला जाता है। रोजे में खजूर का सेवन बहुत ज्यादा किया जाता है। खजूर खाकर ही रोजे खोले जाते हैं, हालांकि, किसी के पास खजूर उपलब्ध नहीं है तो वह पानी पीकर भी रोजे खोल सकता है। इफ्तार के वक्त खजूर खाना ‘सुन्नत’ माना जाता है। (पैगंबर मोहम्मद जो भी काम करते थे, उन्हें सुन्नत करार दिया गया है।) रमजान में खजूर खाने की एक वजह यह भी है।

रोजा खोलने के वक्त कई लोग बहुत ज्यादा खाना खा लेते हैं, जिससे कई सारी दिक्कतें पैदा हो सकती है। ऐसे में उस वक्त खजूर खाने से वह शरीर को काफी शक्ति दे देता है, जिससे भूख कम लगती है और कोई परेशानी नहीं होती। खजूर खाने से पाचन तंत्र मजबूत रहता है। इसमें काफी मात्रा में फायबर पाया जाता है, जो कि शरीर के लिए बहुत जरूरी होती है। सारा दिन भूखा और प्यासा रहने की वजह से शरीर में कमजोरी आ जाती है, ऐसे में खजूर खाने से शरीर को ताकत मिलती है।

खजूर में ग्लूकोज, सुक्रोज और फ्रुक्टोज पाए जाते हैं, जिससे शरीर को तुरंत एनर्जी मिलती है। खजूर का सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल का स्तर भी कम होता है, जिससे दिल की बीमारियां होने का खतरा नहीं रहता। इसके अलावा इसमें पोटेशियम काफी मात्रा में पाया जाता है, वहीं सोडियम की मात्रा कम होती है, ये नर्वस सिस्टम के लिए फायदेमंद होता है। खजूर में आयरन पाया जाता है, जो कि खून से संबंधित बीमारियों से निजात दिलाता है।

खजूर में बरकत है

दरअसल, लंबे समय तक भूखा रहने के बाद अचानक ज्यादा भोजन करने से शरीर को नुकसान होता है। ऐसे में रोजा खोलते वक्त कुछ ऐसा खाना खाना चाहिए जो थाड़ा खाने से भी शरीर को भरपूर ताकत पहुंचा सके और खजूर बखूबी इस काम को करता है। ऐसे में इफ्तार के वक्त खजूर खाने से शरीर को काफी शक्ति मिल जाती है, जिससे भूख कम लगती है और कोई परेशानी भी नहीं होती। इसके अलावा खजूर खाने से पाचन तंत्र भी मजबूत रहता है,.

क्योंकि इसमें काफी मात्रा में फायबर पाया जाता है, जो शरीर के लिए बहुत जरूरी है। सारा दिन भूखे और प्यासे रहने की वजह से शरीर में कमजोरी आ जाती है, ऐसे में खजूर खाने से शरीर को इतनी ताकत आसानी से मिलती है, जितना कि बहुत ज्यादा भोजन करने प्राप्त किया जा सकता है। नोएडा सेक्टर 168 स्थित छपरौली की मस्जिद नूर के इमाम व खतीब मौलाना ज्याउद्दीन ने बताया कि पैगंबर मोहम्मद साहब ने फ़रमाया था कि जब कोई रोज़ा इफ्तार करें तो खजूर या छोहारा से इफ्तार करें, क्योंकि इस में बरकत है और अगर खजूर या छुहारा नहीं मिले तो पानी से इफ्तार करें, क्योंकि पानी पाक करने वाला है।

Back to top button