उत्तर प्रदेश

सवा 2 फुट के अजीम को चाहिए बीवी, बोले- सरकार को करनी होगी मदद

यूपी के कैराना जिले में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया. इस मामलें  में कैराना कस्‍बे में स्‍थानीय एसडीएम अमित पाल शर्मा को गुरुवार को एक ऐसी समस्‍या से दो-चार होना पड़ा, जिसकी उन्‍होंने कभी शायद उम्‍मीद नहीं की होगी.  मामला कुछ ऐसा है कि सिर्फ 2 फुट 3 इंच के अजीम मंसूरी जिनकी उम्र 26 साल है उन्हें एक योग्‍य जीवन साथी नहीं मिल रही और इस संकट से समाधान के लिए उन्होंने जिला प्रशासन से मदद मांगी.  बता दें पांचवी कक्षा में ही पढ़ाई छोड़ देने वाले अजीम ने दावा किया है कि उनका परिवार उनके लिए योग्‍य जीवनसाथी ढूंढने में उनकी मदद नहीं कर रहा है.

अजीम  को विश्वास है कि निकाह के बाद वह अपना और अपने परिवार को सकुशल चला सकते हैं. बता दे अजीम के एसडीएम से अपना दुख साझा करने के बाद कोतवाली पुलिस स्‍टेशन की एक टीम कैराना के चौक बाजार इलाके में पहुंची.पुलिस टीम ने अजीम के परिवारवालों से इस संबंध में बातचीत की.

इस रमजान पर अपनी पत्‍नी के साथ रखेंगे रोजा!

अजीम ने अब दावा किया है कि पुलिस अधिकारियों ने उसे आश्‍वासन दिया है कि कार्रवाई होगी और परिवार को योग्‍य जीवनसाथी की तलाश के लिए दो महीने का समय दिया है. अजीम ने कहा, ‘पुलिसवाले मेरे घर आए थे. उन्‍होंने मुझे आश्‍वासन दिया है कि यदि मेरा दो महीने के अंदर मेरे लिए जीवनसाथी तलाशने में असफल रहता है तो वे इस काम में मेरी मदद करेंगे.

बताते चके  जनरल स्‍टोर की दुकान चलाने वाले अजीम के पिता नसीम मंसूरी अपने बच्‍चे की निकाह करवाने में असहाय नजर आते हैं. नसीम ने कहा, ‘इतनी उम्र के बाद भी वह बच्‍चे की तरह ही मासूस है. कद की वजह के साथ-साथ उसकी कुछ शारीरिक मजबूरी भी है. उसके लिए योग्‍य जीवनसाथी की तलाश करना वास्‍तव में बेहद मुश्किल है.

अजीम ने पिछले साल लखनऊ में पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव से भी मुलाकात की थी और योग्‍य पत्‍नी की तलाश में उनसे मदद मांगी थी. अजीम ने यह भी कहा था कि उसकी शादी डिंपल भाभी करा सकती हैं, लिहाजा उनका नंबर दे दें. आजतक उसके कद की लड़की नहीं मिलने पर शादी की अटकलें चल रही है.

उधर, इस मामले में मदद करने पहुंची स्‍थानीय पुलिस उधेड़बुन में है। एसएचओ कैराना राजेंद्र कुमार नागर कहते हैं, ‘तहसील दिवस पर अजीम के शि‍कायत के बाद हमने जांच के लिए एक टीम भेजी थी। अजीम के पिता और चाचा उनकी शादी कराने के लिए प्रयास कर रहे हैं। हमने उन्‍हें हरसंभव मदद का आश्‍वासन दिया है। अजीम को विश्‍वास है कि वह शादी के बाद अपना परिवार चला सकते हैं। साथ ही सपना देख रहे हैं कि इस रमजान पर वह अपनी पत्‍नी के साथ रोजा रखेंगे।’

Back to top button