गैजेट ज्ञान

WhatsApp का Web वर्जन भी अनसेफ, गूगल सर्च में मिल रहे यूजर्स के पर्सनल मोबाइल नंबर

नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर निशाने पर आए वॉट्सऐप को लेकर एक और विवाद सामने आया है। अब यूजर्स के मोबाइल नंबर वॉट्सऐप वेब (web.whatsapp) के जरिए लीक होने की रिपोर्ट है। इसके मुताबिक गूगल सर्च के दौरान यूजर के नंबर दिखाई दे रहे हैं।

साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर राजशेखर राजहरिया ने सोशल मीडिया पर वॉट्सऐप की लापरवाही को शेयर किया है। उन्होंने गूगल सर्च के दो स्क्रीनशॉट शेयर किए हैं, जिनमें यूजर्स के मोबाइल नंबर साफ नजर आ रहे हैं। उन्होंने लिखा- वॉट्सऐस अपने डेस्कटॉप या वेब वर्जन की गूगल पर निगरानी ही नहीं रख पा रहा।

वेब वॉट्सऐप से लीक हो रहा डेटा
राजहरिया ने बताया कि यूजर्स का डेटा वेब वॉट्सऐप के जरिए लीक हो रहा है। कोई यूजर ऑफिस के लैपटॉप या डेस्कटॉप पर वॉट्सऐप यूज कर रहा है, तो उसके मोबाइल नंबर गूगल सर्च पर आ रहे हैं। ये सभी नंबर पर्सनल यूजर्स के हैं। बिजसेस यूजर्स के नंबर इनमें शामिल नहीं हैं।

इसी हफ्ते राजहरिया ने गूगल पर वॉट्सऐप ग्रुप चैट इनवाइट के इंडेक्सिंग की जानकारी दी थी। तब सर्च रिजल्ट्स में करीब 1,500 से ज्यादा ग्रुप इनवाइट लिंक मौजूद थे। गूगल की तरफ से इंडेक्स की गईं कुछ लिंक पोर्न शेयर करने वाले वॉट्सऐप ग्रुप को लीड करती हैं।

वॉट्सऐप की नई पॉलिसी के खिलाफ अर्जी
वॉट्सऐप की नई डेटा प्राइवेसी पॉलिसी को दिल्ली हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है। एडवोकेट चैतन्य रोहिल्ला ने इसके खिलाफ अर्जी लगाई है। इसमें कहा गया है कि वॉट्सऐप की नई पॉलिसी भारत के लोगों के निजता के अधिकार (Right to Privacy) का उल्लंघन है। यूजर का डेटा शेयर करना गैरकानूनी है।

अर्जी में कहा गया है कि नई पॉलिसी का मतलब ये है कि लोगों की ऑनलाइन एक्टिविटी पर हमेशा नजर रखी जाएगी। यह सब सरकार की निगरानी के बिना होगा। इसलिए वॉट्सऐप की पॉलिसी पर तुरंत रोक लगानी चाहिए।

क्या है वॉट्सऐप की नई पॉलिसी?
वॉट्सऐप यूजर जो कंटेंट अपलोड, सबमिट, स्टोर, सेंड या रिसीव करते हैं, कंपनी उसका इस्तेमाल कहीं भी कर सकती है। कंपनी उस डेटा को शेयर भी कर सकती है। यह पॉलिसी 8 फरवरी 2021 से लागू हो रही है। पहले दावा किया गया था कि अगर यूजर इस पॉलिसी को ‘एग्री’ नहीं करता है तो 8 फरवरी के बाद वह अपने अकाउंट का इस्तेमाल नहीं कर सकेगा। हालांकि बाद में कंपनी ने इसे ऑप्शनल बताया था।

कंपनी की सफाई- यूजर के प्राइवेट मैसेज शेयर नहीं होंगे
नई पॉलिसी पर विवाद होने के बाद कंपनी ने सफाई दी थी। वॉट्सऐप ने कहा था कि इस पॉलिसी से यूजर के प्राइवेट मैसेज को खतरा नहीं है। यानी फ्रेंड्स या फैमिली के साथ की जाने वाली चैट पूरी तरफ सुरक्षित रहेगी। नई पॉलिसी के दायरे में सिर्फ बिजनेस अकाउंट्स आएंगे।

Back to top button