गैजेट ज्ञान

WhatsApp का खुलासा : शर्तों को स्वीकार नहीं किया तो अकाउंट का ऐसा हाल होगा !

शुक्रवार को, एक पीटीआई रिपोर्ट ने भारतीय वॉट्सऐप यूजर्स के लिए महत्वपूर्ण जानकारी का खुलासा किया। इसमें कहा गया है कि वॉट्सऐप ने नई पॉलिसी स्वीकार करने की 15 मई 2021 की समयसीमा को “समाप्त” कर दिया है। लेकिन इसका मतलब यह कतई नहीं है कि आगे भी आप पॉलिसी स्वीकार करने से बच जाएंगे।

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, वॉट्सऐप का ऑफिशियल स्टेटमेंट सामने आया है, जिसमें कहा गया है कि नई प्राइवेसी पॉलिसी को स्वीकार करने की डेडलाइन को टाला गया है, पूरी तरह से रद्द नहीं किया गया है। आखिरकार, आपको नई शर्तों को स्वीकार करना होगा या ऐप के अधिकांश फंक्शन को खोने होगा।

क्या होगा अगर आप शर्तों को स्वीकार नहीं करते?
फेसबुक के स्वामित्व वाले मैसेजिंग प्लेटफ़ॉर्म WhatsApp ने बताया कि वे उन अकाउंट को नहीं हटाएंगे जो नई प्राइवेसी पॉलिसी स्वीकार नहीं करते हैं, लेकिन जितना संभव हो उतना बेकार कर देंगे। हां यह सही है। आइए बताते हैं कि यूजर्स के लिए वास्तव में इसका क्या मतलब है…

कुछ समय बाद लगातार दिखने लगेगा रिमाइंडर
नई प्राइवेसी पॉलिसी को स्वीकार करने वाले लोगों के लिए वास्तव में कुछ भी नहीं बदलता है, लेकिन ऐसे यूजर्स जो शर्तों को स्वीकार नहीं करेंगे उनके लिए बहुत कुछ बदल जाएगा। वॉट्सऐप ने स्पष्ट कर दिया है कि वह नई शर्तों को स्वीकार करने के लिए नोटिफिकेशन दिखाना जारी रखेगा, जैसा कि वह अब तक दिखा रहा है। हालांकि, कई हफ्तों की अवधि के बाद (फिलहाल स्पष्ट नहीं किया गया है कि कितने हफ्ते) यूजर्स को एक निरंतर रिमाइंडर (Persistent Reminder) दिखाई देगा।

धीरे-धीरे लिमिटेड फंक्शनैलिटी मोड में बदल जाएगा ऐप

  • कंपनी इस बात की पुष्टि करती है कि एक बार जब यूजर लगातार रिमाइंडर देखना शुरू कर देंगे, तो वॉट्सऐप एक सीमित कार्यक्षमता मोड (Limited Functionality Mode) में बदल जाएगा। अब इसका क्या मतलब है?
  • Limited Functionality Mode में, यूजर्स अपनी चैट लिस्ट को एक्सेस नहीं कर पाएंगे। वॉट्सऐप का कहना है कि अगर उन्हें चैट प्राप्त होती है, तो वे नोटिफिकेशन के माध्यम से उसे खोल पाएंगे और जवाब भी दे पाएंगे। इस मोड में, यूजर्स आने वाली ऑडियो और वीडियो कॉल का जवाब देने में भी सक्षम होंगे। लेकिन इस बात का यकीन नहीं किया जा सकता कि वॉट्सऐप इन यूजर्स को मैसेज भेजने के लिए कॉल करने की अनुमति देगा।
  • वॉट्सऐप आगे कहता है कि कुछ हफ्ते बाद, ये यूजर्स सभी कॉल और मैसेज प्राप्त करना बंद कर देंगे। साफ तौर पर इसका मतलब यह है कि, जो कोई भी नए नियमों और सेवाओं को स्वीकार करने में विफल रहता है, वह अंततः अधिकांश प्रमुख कार्यात्मकताओं तक पहुंच खो देगा।
  • इसलिए, वॉट्सऐप यूजर्स के पास अंततः एकमात्र विकल्प बचता है, शर्तों को स्वीकार करना या वैकल्पिक ऐप जैसे कि, सिग्नल या टेलीग्राम पर स्विच करना।
Back to top button