देश

हार की जिम्मेदारी लेते हुए ममता बोली-अब मुख्यमंत्री पद पर नहीं रहना चाहती

लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल में भाजपा की शानदार जीत और तृणमूल कांग्रेस की सीटें घटने के बाद ममता बनर्जी ने पार्टी की हार की जिम्मेदारी लेते हुए मुख्यमंत्री पद छोड़ने की पेशकश की है।

तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता ने शनिवार को कालीघाट स्थित आवास पर पार्टी नेताओं एवं पदाधिकारियों के साथ हार पर मंथन किया। इसके बाद उन्होंने मीडिया से बात की। मुख्यमंत्री ने कहा, “मैंने मुख्यमंत्री पद छोड़ने की पेशकश की है। मैं केवल तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष बनकर रहना चाहती हूं।”
हार का ठीकरा केंद्रीय बलों पर फोड़ते हुए ममता ने कहा, “चुनाव के दौरान केंद्रीय बल के जवानों ने तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ काम किया, हिंदू और मुस्लिमों में भेद किया गया। बंगाल में आपातकाल जैसे हालात बना दिए गए। तृणमूल कांग्रेस बार बार चुनाव आयोग से शिकायत करती रही, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई।”
उल्लेखनीय है कि लोकसभा की 42 सीटों वाले पश्चिम बंगाल में भाजपा ने 18 सीटों पर जीत हासिल की है, जबकि पिछली बार 34 सीटें जीतने वाली तृणमूल कांग्रेस 22 पर सिमट गई है।
चुनाव के परिणाम आने के बाद से ममता ने लगातार मीडिया से दूरी बनाए रखी थी और दो दिन बाद मीडिया से मुखातिब हुई हैं।
Back to top button