देश

Video: कैमरे पर RJD सांसद ने लालू को दी गालियां, फंडिंग के लिए मर्डर भी करने को तैयार

अब तक आपने सुना होगा कि नोट के दम वोट खरीदा जाता है. अब तक आपने सिर्फ सुना होगा कि चुनाव में करोड़ों झोंककर नेता सांसद बन जाते हैं लेकिन टीवी 9 भारतवर्ष के खुफिया कैमरे में कैद हुए एक-एक सांसद ने चुनाव में जीत का काला सच खुद ही खोल के रख दिया. पहली बार जनता की नुमाइंदगी करने वाले माननीय सांसदों ने खुद टीवी पर बताया कि कैसे लोकतंत्र पर नोटतंत्र हावी हो चुका है.

3 दिन पहले लॉन्च हुए हिंदी न्यूज चैनल टीवी9 भारतवर्ष ने आज सनसनीखेज स्टिंग ऑपरेशन देश के सामने पेश किया. इस स्टिंग ऑपरेशन में ऐसे कई सांसदों की पोल खुल गई जो पैसों की खातिर अपने जमीर के साथ-साथ लोकतंत्र का भी सौदा करने को तैयार हैं. अंडरकवर रिपोर्टर्स के छुपे हुए कैमरों के जरिए राजनीति का वो सच सामने आया है जिसने देश को हिलाकर रख दिया.

इसी सिलसिले में लालू के खास रहे तस्लीमुद्दीन के बेटे सरफराज़ आलम का नाम भी सामने आया है. सरफराज ने तो काले धन के अलावा अपनी ही पार्टी के नेता लालू यादव को नहीं बख्शा. यही नहीं कैश के हेरफेर में कोई बीच में आया तो उसे गोली मारने की धमकी भी दे डाली.

लोकसभा उपचुनाव से ठीक पहले वो जेडीयू छोड़ आरजेडी में शामिल हुए थे. 2018 में आरजेडी के टिकट पर सरफराज़ ने अररिया लोकसभा का उपचुनाव जीता और अब एक बार फिर 2019 में अररिया से ही आरजेडी के प्रत्याशी बने हैं. अंडरकवर रिपोर्टर्स की टीम दिल्ली स्थित उनके सरकारी आवास पहुंची और बातचीत की. टीम के लोग फ़र्ज़ी कंपनी के कर्मचारी बनकर पहुंचे थे जिन्होंने बताया कि उनकी कंपनी अररिया में सोलर प्लांट लगवाना चाहती है. टीम ने ये भी कहा कि इस प्लांट को लगाने में सरफराज़ की मदद चाहिए जिसकी एवज़ में कंपनी चुनाव के वक्त उनकी हर संभव मदद करेगी.

अंडरकवर रिपोर्टर्स का मक़सद ये जानना था कि सरफ़राज़ आलम चुनाव में कितना खर्च करने वाले हैं और कालेधन का कितना इस्तेमाल करते हैं . इस सवाल का जवाब सांसद सरफ़राज़ ने बिना हिचके दिया. उन्होंने कहा कि चुनाव में दस-बीस करोड़ रुपए का खर्च होनेवाला है. उपचुनाव में वो 75 करोड़ रुपए खर्चने का दावा तो करते ही हैं, बीजेपी पर भी 80 करोड़ रुपए खर्चने का आरोप लगा रहे हैं.

दरअसल, सांसद सरफ़राज़ करोड़ों का कालाधन लेकर बिहार में शराबबंदी की धज्जियां उड़ाना चाहते हैं. उन्होंने ख़ुफ़िया कैमरे पर ख़ुद ही ये कहा कि चुनाव के दौरान शराब की होम डिलीवरी करवानी पड़ती है. इतना ही नहीं RJD सांसद सरफ़राज़ आलम ने ये भी बताया कि चुनाव में करोड़ों रुपये का कालाधन ख़र्च करने के बावजूद वो चुनाव आयोग की नज़र से कैसे बचते हैं.

महंगे चुनाव की दुहाई देते सरफराज़ आलम ने जब अंदाज़ा लगा लिया कि कंपनी वाले उन्हें चुनावी फंड खुलकर देंगे तो उन्होंने साम-दाम-दंड-भेद लगाकर कंपनी की मदद करने का वादा कर लिया. यूं तो सरफराज़ आलम लालू के खास हैं लेकिन चुनाव में पार्टी फंड से पैसे न मिलने की बात कहकर वो लालू प्रसाद यादव पर भी खूब भड़के. उन्हें ऐसी-ऐसी गालियां दीं जो लिखी भी नहीं जा सकतीं.

नोट- ये खबर इतनी बड़ी है कि ज्यादा से ज्यादा देशवासियों तक पहुंचाना हमारी नैतिक जिम्मेदारी है. इसीलिए इस स्टिंग ऑपरेशन के लिए टीवी9 भारतवर्ष की पूरी टीम को बधाई देते हुए हम ये खबर जनमन टीवी की वेबसाइट पर लगा रहे हैं. हम ये भी साफ कर देना चाहते हैं कि जनमन टीवी इस स्टिंग ऑपरेशन की पुष्टि नहीं करता है.

देखिए वीडियो-

Back to top button