क्राइम

Video: लाल किला में पहुंचे उपद्रवियों ने कैसे मचाया उत्‍पात, SHO ने बयां की दास्‍तां

नई दिल्ली । दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हुए उपद्रव में वजीराबाद के एसएचओ पीसी यादव गंभीर रूप से घायल हुए। पीसी यादव ने बताया कि वह अपनी टीम के साथ लाल किले में तैनात थे, तभी उपद्रवियों का एक जत्था लाल किले में आया और लाल किले की दीवार पर चढ़ने लगे। उन लोगों को रोकने के लिए पुलिसकर्मी भी चढ़ने लगे और वहां मौजूद कुछ लोगों को समझाकर नीचे भेजने लगे। लाल किले की प्राचीर से हटाने के क्रम में उपद्रवियों की भीड़ बेकाबू हो गई और पुलिसकर्मियों पर हमला करने लगी।

यादव ने बताया कि उपद्रवियों के पास कई तरह के घातक हथियार थे, जिसके जरिए वह लगातार पुलिसकर्मियों पर हमले कर रहे थे। इसी बीच एक पुलिसकर्मी के सिर पर किसी घातक हथियार से हमला किया गया और उसके सिर से खून बहने लगा। जब उसे लेकर यादव वहां से निकलने लगे तो उपद्रवियों ने उन पर भी हमला कर दिया। सिर पर हेलमेट पहना हुआ था। इसलिए मैंने लाठियों के कई प्रहार सह लिये, लेकिन अचानक पीछे से किसी ने मेरे सिर पर तलवार से वार किया, जिसके कारण मेरा हेलमेट टूट गया और मैं लगभग बेहोश हो गया।

मालूम हो कि किसान ट्रैक्टर रैली के बाद जहाँ लाल किला को काफी हानि पहुँची है, वहीं पूरे आयोजन का सबसे बुरा प्रभाव पुलिसकर्मियों पर पड़ा है। रिपोर्ट्स के मुताबिक लगभग 109 से अधिक पुलिसकर्मी इस हिंसा में घायल हुए थे। दिल्ली पुलिस ने एक बयान जारी करते हुए कहा है कि हिंसा में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। दिल्ली के ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर आलोक कुमार ने कहा कि ट्रैक्टर रैली में पुलिस कर्मियों के साथ मारपीट करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई होगी।

Back to top button