उत्तर प्रदेश

UP: योगी सरकार से संवाद करना होगा आसान, यूपी सरकार ने लॉन्च किया “My Gov UP पोर्टल”

लखनऊ
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में My Gov UP पोर्टल लॉन्च किया है। करगिल विजय दिवस के दिन यूपी सरकार ने यह घोषणा की। सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस बारे में औपचारिक ऐलान किया। सीएम योगी के कार्यालय ने ट्वीट में कहा, ‘नए उत्तर प्रदेश में अब अपनी सरकार से सीधे और त्वरित संवाद का एक और माध्यम।’

‘माइ गव से 10 करोड़ लोग सीधे जुड़े हैं’
सीएम योगी ने कहा, ‘करगिल विजय दिवस के दिन 26 जुलाई 2014 को पीएम मोदी ने My Gov पोर्टल की शुरुआत की थी। आम जनमानस की योजनाओं में भागीदारी सुनिश्चित करने, उनके सुझावों को और शासन की योजनाओं को मूर्त रूप देने के लिए इस पोर्टल का शुभारंभ किया था। आज देश के एक करोड़ 85 लाख लोगों का सीधा जुड़ाव इस पोर्टल के माध्यम से लोकप्रियता को उजागर करता है। यानी 10 करोड़ लोग डायरेक्ट इससे जुड़े हुए हैं। मैं इसकी टीम से जुड़े सभी लोगों का अभिनंदन करता हूं, जिन्होंने भारत सरकार की योजनाओं को बनाने से लेकर आम जन तक लागू करने तक इस पोर्टल का बेहतरीन उपयोग किया।’

‘हमने तकनीक के प्रयोग को बेहतरीन रूप से महसूस किया’
सीएम योगी ने कहा, ‘एक वर्ष से पूरी दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही है। हम लोगों ने तकनीक के प्रयोग को बेहतरीन तरीके से महसूस किया है। कैसे पारदर्शी और पूरे ईमानदारी पूर्वक शासन की योजनाओं का लाभ दे सकते हैं। उत्तर प्रदेश देश की आबादी का सबसे बड़ा राज्य है। खाद्यान्न के मामले में प्रदेश के पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम (पीडीएस) में बड़ी विकृतियां थीं। बड़े पैमाने पर भूख से मौतें भी यहां पर होती थीं। 2016 दिसंबर और 2017 जनवरी में मुझे स्वयं कुछ ऐसे स्थानों पर भ्रमण करने का अवसर मिला था, जहां भूख से मौतें हुई थीं।’

‘तकनीक के जरिए रोका जा सकता है भ्रष्टाचार’
सीएम ने पीडीएस सिस्टम का जिक्र करते हुए कहा, ‘मुझे देखकर आश्चर्य होता था कि लोगों के पास राशन कार्ड है लेकिन राशन कार्ड के बारे में उनको जानकारी नहीं है। उनका खाद्यान्न हड़प जाते थे। हमने 80 हजार से अधिक राशन दुकानों में इपोस मशीन लगाकर उसे राज्य सरकार के पोर्टल से जोड़ा। आज प्रदेश के अंदर 15 करोड़ लोगों को सीधे-सीधे पीडीएस का लाभ दे रहे हैं। पहले से अधिक मात्रा में खाद्यान्न वितरित भी हो रहा है। इसके जरिए सरकार 1200 करोड़ रुपये की हर साल बचत भी कर रही है। यानी तकनीक के जरिए भ्रष्टाचार को रोका जा सकता है।’

‘जनता के सुझाव जानने और इनोवेशन को आगे बढ़ाने में मदद’
सीएम योगी ने माइ गव का शुभारंभ करते हुए कहा, ‘उत्तर प्रदेश जैसे राज्य में कुछ नहीं हो सकता है ये लोग मानते थे। प्रदेश के अंदर राजस्व की आवक भी बहुत कम थी। लेकिन तकनीक का उपयोग करके आज उत्तर प्रदेश आत्मनिर्भरता के लक्ष्य को प्राप्त कर रहा है। प्रधानमंत्री मोदी जी के प्रेरणा और मार्गदर्शन में भारत सरकार के सहयोग से mygov यूपी के भी इस पोर्टल का शुभारंभ हो रहा है। ना केवल उत्तर प्रदेश के लोगों को इसके जरिए बेहतर तरीके से योजनाओं का लाभ मिल पाएगा। हमारे जो अलग-अलग प्लैटफॉर्म एक साथ जोड़ने का लाभ प्राप्त होगा, बल्कि लोगों के सुझाव जानने, विभिन्न मामलों में लोगों से सहयोग लेने में और इनोवेशन को आगे बढ़ाने में शासन को मदद मिलेगी।’

‘अंतिम पायदान पर बैठे व्यक्ति तक पहुंचने में मिलेगी मदद’
सीएम योगी ने अंत्योदय की बात करते हुए कहा, ‘हम लोग अपनी योजनाओं को बेहतरीन तरीके से समाज के अंतिम पायदान पर बैठे उस व्यक्ति तक पहुंचाने के लिए जिसके बारे में पंडित दीन दयाल उपाध्याय जी ने अंत्योदय की बात की थी। उन तक पहुंचाने में हमें मदद मिलेगी। माइ गव के सात वर्ष सफलतापूर्वक पूर्ण होने के उपलक्ष्य में प्रधानमंत्री जी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए केंद्रीय रेल, आईटी और इलेक्ट्रॉनिक्स मंत्री अश्विनी वैष्णव जी, विभाग के राज्यमंत्री राजीव चंद्रशेखर जी, केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी सचिव अजय साहनी और सीईओ माइ गव को हृदय से आभार व्यक्त करता हूं। विश्वास दिलाता हूं कि माइ गव यूपी का यह चैप्टर भी माइ गव की तर्ज पर अपनी बेहतर सेवाओं के लिए जाना जाएगा।’

Back to top button