उत्तर प्रदेश

इस बार बोर्ड परीक्षा देने वाली लड़कियों पर योगी सरकार मेहरबान, आई ये खुशखबरी

Image result for लड़कियों के लिए खुशखबरी, बोर्ड परीक्षाओं में नहीं बदलेंगे सेंटर

लखनऊ। यूपी के  इन दिनों बोर्ड परीक्षा देने वाली लड़कियों पर योगी सरकार मेहरबान है बताते चेले उत्तर प्रदेश में हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षाएं नजदीक आती जा रही हैं। और छात्र छात्रों की चिंताए भी बढ़ गयी है, नकल विहीन परीक्षा बनाने के लिए यूपी बोर्ड प्रशासन काफी मेहनत करने में जुटा है। वहीं बोर्ड परीक्षा की तैयारी का जायजा लेने डिप्टी सीएम दिनेश चंद्र शर्मा ने आजमगढ़ पहुंचे और की जा रही तैयारियों और खामियों का जायजा लिया। डिप्टी सीएम ने कहा कि इस सत्र में यूपी बोर्ड परीक्षाओं में बालिकाओं का सेल्फ सेंटर रहेगा लेकिन यहां पर तैनात अध्यापक को दूसरे परीक्षा केंद्रों पर भेजा जाएगा।

उन्होंने कहा कि आजमगढ़, मऊ और बलिया में अलग से एक अधिकारी को तैनात किया जाएगा। नकल विहीन परीक्षा को सम्पन्न बनाने के लिए हर ठोस कदम उठाया जाएगा। परीक्षा के लिए किसी बी प्रकार की लापरवाही नहीं बरती जाएगी। उन्होंने मंडल के तीनों डीआइओएस से कहा कि जहां-जहां भी परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं, उसकी पड़ताल कर ली जाए और हर हाल में सभी केंद्रों पर ऑडियो सीसीटीवी कैमरा लगाना अनिवार्य है।

यूपी बोर्ड 2019 की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षाएं 7 फरवरी से शुरू होंगी। इन परीक्षाओं को 16 दिनों के अंदर संपन्न करा लिया जाएगा। बता दें कि यूपी बोर्ड का सफर 95 वर्ष पुराना है। सन 1923 में पहली बार यूपी बोर्ड की परीक्षाओं का आयोजन किया गया था। तब से लेकर आज तक प्रतिवर्ष बोर्ड द्वारा इंटर और हाईस्कूल की परीक्षाओं का आयोजन कराया जा रहा है। फिलहाल हर परीक्षा केंद्र पर वॉइस रिकॉर्डर लगवाने की चुनौती जरूर प्रशासन और विभाग पर होगी।

Back to top button