उत्तर प्रदेश

UP में ब्लैक फंगस का तांडव : अब तक 15 मरीजों की मौत मेरठ में 24 और लखनऊ में 23 नए केस मिले

कोरोना से जूझ रहे उत्तर प्रदेश में अब म्यूकोरमायकोसिस यानी ब्लैक फंंगस से नई मुश्किल खड़ी हो गई है। लखनऊ में एक ही दिन में 23 नए मरीज सामने आए हैं। यहां मरीजों की संख्या बढ़कर 43 हो गई है। 7 मौतें हो चुकी हैं। ऐसे ही मेरठ में भी एक ही दिन में 24 नए मरीज सामने आए हैं। यहां कुल 50 मरीज हो गए हैं। इनमें 3 की मौत हो चुकी है। कानपुर, गोरखपुर, झांसी में भी नए मरीज सामने आ रहे हैं। हर दिन इन शहरों से ब्लैक फंगस के मरीजों की मृत्यु की खबरें सामने आ रही हैं। उधर, स्वास्थ्य विभाग ने भी माना है कि अब तक ब्लैक फंगस के पूरे प्रदेश से 102 मरीज मिले हैं। इसमें 15 की मौत हो चुकी है।

डराने वाली बात ये है कि ब्लैक फंगस का शिकार हुए ज्यादातर लोगों की उम्र 40 साल से नीचे है। डॉक्टर्स का कहना है कि कोरोना संक्रमित होने के बाद जिन्होंने स्टेरॉयड लिया था, उन पर इसका ज्यादा असर हुआ है। यदि शुरुआती लक्षण दिखने पर ही लोग डॉक्टर्स से संपर्क कर लें तो संक्रमण बढ़ने से रोका जा सकता है। उधर, सरकार का कहना है कि सभी जिलों को अलर्ट कर दिया गया है। इलाज के बेहतर प्रबंध किए जा रहे हैं।

लखनऊ में दो दिन में दोगुने हुए केस

बीते दो दिन में तीन मरीजों की मौत के बाद दहशत बढ़ी है। रविवार तक ब्लैक फंगस के करीब 20 मामले थे, जो सोमवार को बढ़कर 43 तक पहुंच गए। KGMU के प्रवक्ता सुधीर सिंह के अनुसार ब्लैक फंगस के अब तक 34 मरीज भर्ती हुए हैं। जिनमे से मंगलवार को 3 रोगी भर्ती हुए। अब तक ब्लैक फंगस के 6 रोगियों का ऑपरेशन किया जा चुका है। वहीं, 4 रोगियों की इलाज के दौरान मौत हो चुकी है और एक मरीज का उपचार कर डिस्चार्ज किया गया।

मेरठ में 50 के पार पहुंची मरीजों की संख्या

मेरठ जिले में ब्लैक फंगस के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। मंगलवार को ब्लैक फंगस के 24 नए मरीज मिलने के बाद अब जिले में इस बीमारी के मरीजों की संख्या 50 पार पहुंच चुकी हैं। मेडिकल व निजी अस्पतालों के अलावा ईएनटी सेंटर्स पर लगातार ब्लैक फंगस के नए मरीज मिल रहे हैं।

अकेले मेरठ मेडिकल कॉलेज में ही दो दिन में 19 नए मरीज मिले। यहां अब ब्लैक फंगस संक्रमितों की संख्या 27 पहुंच चुकी हैं। इसमें 8 को रेफर कर दिया गया है। आनंद अस्पताल में 07 मरीजों का ऑपरेशन हो चुका है। अन्य निजी अस्पतालों में 3 मरीजों की आंख का ऑपरेशन हो चुका है।

Back to top button