उत्तर प्रदेश

UP : कोरोना की तीसरी लहर की आहट सुनिए, 24 घंटे में दोगुना नए केस मिले

उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे में कोरोना के ग्राफ में बड़ा उछाल आया है। मंगलवार को जहां 36 नए केस मिले थे, वहीं बुधवार को यहां संख्या 89 पहुंच गई है। अचानक बढ़े केस से स्वास्थ्य विभाग चिंतित है। लोग इसे कोरोना की तीसरी लहर की आहट से जोड़ रहे हैं। बीते 24 घंटे में सबसे अधिक 22 संक्रमित कानपुर में मिले। एक दिन पहले यहां मंगलवार को महज 2 केस मिले थे।

कानपुर के सीएमओ का दावा है कि जिले में कोरोना संक्रमण के हालात नियंत्रण में है। ट्रेस, टेस्ट व ट्रीट के माध्यम इस पर काबू पाया जाएगा। हालांकि राहत देने वाली बात यह रही कि बुधवार को कोरोना से हुई मौत का आंकड़ा 1 पर ही सीमित रहा। प्रदेशभर में कुशीनगर जनपद से ही एक संक्रमित की मौत होने की पुष्टि हुई है।

36 जनपदों में नहीं मिला एक भी केस
बुधवार को 36 जनपदों में कोरोना का एक भी केस नहीं पाया गया। वहीं कानपुर में सर्वाधिक 22 मरीज पाए गए। जहां मंगलवार को जनपद में एक्टिव मरीजों की संख्या 15 थी, वहीं बुधवार शाम होने तक यह 35 पर पहुंच गई। कानपुर प्रशासन समेत स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट किया गया है और लोगों से कोरोना प्रोटोकॉल की गाइडलाइन को पालन करने की अपील की जा रही है।

ढाई लाख से ज्यादा सैंपल की हुई टेस्टिंग
बुधवार को राज्य में दो लाख 53 हजार 94 सैंपल के कोरोना टेस्ट किए गए। इस दौरान 89 मरीजों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई। वहीं 116 लोग कोरोना वायरस को हराने में सफल रहे। यूपी में देश में सर्वाधिक 6 करोड़ 47 लाख 56 हजार से अधिक टेस्ट किए गए। वर्तमान में प्रदेश में 768 एक्टिव केस रह गए हैं, वहीं 11 जनपद कोरोना मुक्त हैं। यह जनपद अलीगढ़, बदायूं, बस्ती, बहराइच, महोबा, एटा, फतेहपुर, हमीरपुर, हाथरस, कासगंज व श्रावस्ती हैं।

4 लाख 62 हजार को लगी वैक्सीनेशन डोज
प्रदेश में बुधवार को फिर से वैक्सीनेशन का ग्राफ गिरा। यह और बात रही कि अफसर प्रदेश में वैक्सीन संकट की बात से इंकार कर रहे हैं। 28 जुलाई को 4 लाख 62 हजार 936 लोगों को वैक्सीन की डोज लगी। इसके लिए 4 हजार 138 केंद्र बने। वहीं कुल 4 करोड़ 57 लाख 17 हजार 456 डोज लगी। इसमें 3 करोड़ 82 लाख 87 हजार 571 को पहली डोज लगी, वहीं 74 लाख 29 हजार 885 को दूसरी डोज दी जा चुकी है।

15 अगस्त तक तैयार होंगे 6700 PICU बेड तैयार
राज्य में तीसरी लहर का खतरा मंडरा रहा है। ऐसे में बच्चों के लिए पीकू (पीडियाट्रिक इंटेंसिव केयर यूनिट) तैयार किए जा रहे हैं। 15 अगस्त तक सरकारी मेडिकल कॉलेज में 6700 पीकू-नीकू के बेड तैयार होने का दावा किया जा रहा है। अभी तक 6500 बेड तैयार होने की बात भी विभागीय अफसर कर रहे हैं। वहीं बच्चों के इलाज के लिए 35 लाख मेडिकल किट वितरित कराने का भी दावा किया जा रहा है।

24 घंटे में प्रदेश के साथ बड़े शहरों में आए कुल मामले –

शहर पॉजिटिव केस रिकवर एक्टिव केस
लखनऊ 02 06 51
प्रयागराज 06 06 67
वाराणसी 03 06 23
गोरखपुर 02 03 24
मेरठ 01 03 22
कानपुर 22 02 35
आगरा 00 00 04

Back to top button