क्राइमख़बर

उन्नाव गैंगरेप: पीड़िता हुई ‘हादसे’ की शिकार, जानिए क्या बोल रहा है परिवार

उत्तर प्रदेश के बहुचर्चित उन्नाव गैंगरेप केस की पीड़िता रविवार को सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल हो गई. कार और ट्रक की टक्कर में पीड़िता की चाची व मौसी की मौत हो गई, जबकि उनके वकील महेंद्र सिंह चौहान की भी हालत नाजुक है. जिन हालातों में पीड़िता इस हादसे की शिकार हुई, उनको देखते हुए इस एक्सीडेंट के पीछे साजिश नजर आ रही है. दरअसल जिस ट्रक से रायबरेली में पीड़िता की कार को टक्कर मारी गई है. उस ट्रक के नंबर प्लेट पर ग्रीस पुती हुई थी. इस वजह से ट्रक के नंबर को पढ़ा नहीं जा सकता है

ये वही पीड़िता है, जिसके गैंगरेप के इल्जाम में बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर कई महीनों से जेल में बंद हैं. इस सड़क हादसे के बाद पीड़िता की बहन का बड़ा बयान सामने आया है. पीड़िता की बहन का कहना है कि विधायक समर्थक लगातार सुलह समझौते के लिए धमकी दे रहे थे और केस में पैरवी कर रही चाची को जान से मारने की धमकी दी थी. पीड़िता की बहन ने गांव के तीन युवकों पर डराने व धमकाने का लगाया आरोप लगाया है.

वहीं पीड़िता की मां ने कहा कि विधायक रोज कचहरी में मारने की बात करता था, आखिर एक्सीडेंट करवा दिया. रेप पीड़िता की मां ने चाचा को जल्द बुलाने की मांग करते हुए कहा कि बीजेपी विधयाक कुलदीप सिंह सेंगर के गुर्गे बाहर घूम रहे हैं. विधायक जेल के अंदर से अपना सारा नेटवर्क मोबाइल के जरिए चलाता है. हमने पुलिस से पहले ही एक्सीडेंट और हत्या कराने का शक जाहिर किया था.

बता दें कि विधायक कुलदीप सिंह सेंगर कई महीनों से जेल में बंद है. उसके ही गांव की एक युवती ने उस पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था. इस मामले की सीबीआई जांच चल रही है. विधायक के भाई पर आरोप है कि उसने पीड़िता के पिता को पेड़ से बांधकर पीटा, उसके बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया. पुलिस ने उसे जेल भेज दिया था, जहां उसकी मौत हो गई थी.

Back to top button