खेलजरा हट के

UAE में ही होंगे IPL के बाकी 31 मैच, विदेशी खिलाड़ियों को लेकर ऐसा काम करेगा BCCI

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने आज हुई स्पेशल जनरल मीटिंग (SGM) में IPL 2021 के बचे हुए 31 मैचों को UAE में कराने के फैसले पर मुहर लगा दी है। बोर्ड के उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला और सचिव जय शाह ने इसकी पुष्टि की। बोर्ड ने कहा कि इसके लिए सितंबर-अक्टूबर विंडो को ही ध्यान में रखा गया है। UAE भी अपने 3 ग्राउंड अबू धाबी, शारजाह और दुबई में IPL के मैच कराने को लेकर खुश है।

भास्कर IPL 2021 सीजन के सस्पेंड होने के बाद से कहता आ रहा है कि BCCI सितंबर में IPL के बाकी मैच करा सकता है। मीटिंग में इस बात पर भी फैसला लिया गया कि आने वाले दिनों बोर्ड विदेशी खिलाड़ियों को लेकर दूसरे देशों के बोर्ड से भी बातचीत करेगा। इंग्लिश बोर्ड ने पहले ही खिलाड़ियों के ऊपर पाबंदी लगा रखी है।

टी-20 वर्ल्ड कप को लेकर 1 जून को इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल की मीटिंग होनी है। BCCI वर्ल्ड कप को होस्ट करने को लेकर फैसला लेने के लिए मीटिंग में जून तक का समय मांगेगा। बोर्ड वर्ल्ड कप को लेकर कोई भी फैसला लेने से पहले भारत में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा भी करेगा।

BCCI SGM में इन मुद्दों पर हुई चर्चा

  • IPL के लिए 25 दिनों के विंडो की तलाश BCCI ने कर ली है। बाकी बचे 31 मैच UAE के 3 ग्राउंड में होंगे। अमीरात क्रिकेट बोर्ड भी इससे खुश है।
  • बोर्ड विदेशी खिलाड़ियों को लेकर दूसरे बोर्ड से बातचीत करेगा। हालांकि, विदेशी खिलाड़ियों के न रहने से IPL पर कोई असर नहीं पड़ेगा। IPL किसी भी शर्त पर होगा और UAE के साथ डील जारी रहेगी।
  • बोर्ड ICC से टी-20 वर्ल्ड कप को लेकर एक महीने का वक्त मांगेगा। इस दौरान कोरोना की समीक्षा भी की जाएगी। BCCI के सूत्र ने बताया कि बोर्ड चाहता है वर्ल्ड कप भारत में हो। अक्टूबर में होने वाले वर्ल्ड कप में अभी फिलहाल 4 महीने का वक्त बचा है। ऐसे में कुछ दिनों में भारत में कोरोना से हालत सुधर सकते हैं।
  • घरेलू खिलाड़ियों को भुगतान के मुद्दे पर SGM में कोई चर्चा नहीं की गई। कोविड-19 के कारण रद्द हुए रणजी सेशन के कारण 700 खिलाड़ी प्रभावित हुए थे। BCCI ने पिछले साल जनवरी में खिलाड़ियों को वित्तीय मदद का भरोसा दिया था, लेकिन उसके तरीके के बारे में नहीं बताया था।
  • सूत्रों के मुताबिक, स्टेट एसोसिएशंस में से किसी एक ने घरेलू क्रिकेटर्स की बची हुई सैलरी के मुद्दे को उठाया था, लेकिन सौरव गांगुली और राजीव शुक्ला ने इसे एजेंडे का हिस्सा नहीं बताते हुए ठुकरा दिया।
  • वर्ल्ड कप मेजबानी के लिए टैक्स में छूट को लेकर भी चर्चा हुई। इस बारे में केंद्र सरकार से बातचीत जारी है। बोर्ड को यकीन है सरकार इस मामले में उन्हें टैक्स से छुटकारा दे देगी।

UAE में IPL के साथ टी-20 वर्ल्ड कप कराने पर भी विचार
कोरोना की वजह से IPL सस्पेंड होने के बाद से भारत पर टी-20 वर्ल्ड कप की मेजबानी को लेकर तलवार लटक रही है। ICC ने बैकअप के तौर पर UAE को भी ऑप्शन में रखा है। ऐसे में बोर्ड जून तक का समय लेकर विचार कर सकता है कि IPL की मेजबानी के साथ-साथ वर्ल्ड कप की मेजबानी भी UAE को दे दी जाए।

वर्ल्ड कप से एक हफ्ते पहले 3 स्टेडियम ICC के पास होंगे
UAE में दुबई, शारजाह और अबू धाबी में 3 इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम हैं। सूत्रों के मुताबिक वर्ल्ड कप भी UAE में कराए जाने की स्थिति में सभी नॉकआउट मैच और फाइनल एक ही मैदान पर कराए जा सकते हैं। ऐसे में एक स्टेडियम को छोड़कर बाकी 2 स्टेडियम करीब 15 दिन पहले ICC के सुपुर्द किया जा सकते हैं। इससे ICC टी-20 वर्ल्ड कप की तैयारी भी शुरू कर सकेगा। वहीं 9 या 10 को IPL फाइनल होने से ICC को तीसरा ग्राउंड भी करीब एक हफ्ते पहले सौंप दिया जाएगा।

रेवेन्यू और टैक्स को लेकर भी हुई चर्चा
बोर्ड को टी-20 वर्ल्ड कप के लिए रेवेन्यू भी जनरेट करना है। हाल ही में BCCI और सरकार के बीच वर्ल्ड कप के लिए टैक्स में छूट देने की मांग भी उठी थी। हालांकि सरकार ने अभी तक इसको लेकर कोई फैसला नहीं लिया है। अगर केंद्र सरकार टैक्स में 10% की भी छूट देती है, तो बोर्ड को करीब 226 करोड़ रुपए चुकाने होंगे। वहीं, कोई भी छूट नहीं देने की स्थिति में BCCI को वर्ल्ड कप कराने के लिए 906 करोड़ रुपए देने होंगे। बोर्ड इसमें छूट देने को लेकर केंद्र सरकार से बात कर रहा है।

Back to top button