गैजेट ज्ञान

TikTok ऐप में पकड़ी गई चीन की बड़ी गलती, अमेरिका ने ठोंका करोड़ों का जुर्माना

चाइना का मशहूर ऐप TikTok पर बिना माता-पिता की सहमति के बच्चों से अवैध रूप से निजी जानकारी एकत्र करने के लिए अमेरिका में 5.7 मिलियन डॉलर (लगभग 40.42 करोड़ रुपये) का जुर्माना लगाया गया है. यूएस फेडरल ट्रेड कमिशन ने कहा कि बच्चों की निजता से जुड़ी जांच में यह जुर्माना अब तक का सबसे बड़ा है. TikTok, जिसे पहले musical.ly के रूप में जाना जाता था, एक लोकप्रिय मोबाइल एप्लिकेशन है जो यूजर्स को वीडियो बनाने की अनुमति देता है.

ट्रेड कमीशन की शिकायत के अनुसार, यह न्याय विभाग द्वारा दायर की गई है. जिसमें कहा गया है कि एप ने बच्चों की ऑनलाइन गोपनीयता संरक्षण अधिनियम के प्रावधानों का उल्लंघन किया, जो वेबसाइटों और ऑनलाइन सेवाओं को 13 वर्ष से कम उम्र के बच्चों से व्यक्तिगत जानकारी एकत्र करने से पहले माता-पिता की सहमति प्राप्त करने के लिए निर्देशित करता है. फेडरल ने कहा है कि, ‘एप ने 13 साल से कम उम्र के उपयोगकर्ताओं से नाम, ईमेल पते और अन्य व्यक्तिगत जानकारी एकत्र करने से पहले माता-पिता की सहमति नहीं ली.

फेडरल ने कहा “यह रिकॉर्ड जुर्माना बच्चों को लक्षित करने वाली सभी ऑनलाइन सेवाओं और वेबसाइटों के लिए एक अनुस्मारक होना चाहिए. आयोग के अनुसार, TikTok को उपयोगकर्ताओं को एक ईमेल पता, फोन नंबर, उपयोगकर्ता नाम, पहला और अंतिम नाम, एक छोटी जीवनी और एक प्रोफ़ाइल चित्र प्रदान करना आवश्यक है. अधिकारियों ने कहा कि ऐप इस बात से अवगत था कि उसका यूजर्स 13 साल से कम उम्र का था.

पिछले महीने, तमिलनाडु सरकार ने कहा था कि वह TikTok पर प्रतिबंध लगाने के लिए केंद्र की मदद लेगी, यह दावा करते हुए कि यह भारतीय संस्कृति के लिए “हानिकारक” है. ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम के विधायक थामिमुन अंसारी ने दावा किया था कि ऐप युवा पीढ़ी को सांस्कृतिक पतन की राह पर धकेल रहा है और इससे यौन विषयक सामग्री फैल रही है.

Back to top button