देश

हार से आहत ममता ने ट्वीट की ये कविता, लिखा- ‘आमि मानि न’

बंगाल में भाजपा की जीत से परेशान ममता बनर्जी ने लिखी ये कविता...

केन्द्र में पांच साल के शासन के बल पर मोदी लहर ने इस लोकसभा चुनाव में सुनामी का रूप ले लिया जिसमें न केवल देश के पश्चिम और उत्तरी भाग बल्कि पूर्वी हिस्से में भी भारतीय जनता पार्टी ने अपने विरोधियों के पैर उखाड़ दिये और लगातार दूसरी बार पूर्ण बहुमत हासिल कर इतिहास रच दिया।  इस सुनामी का असर इतना व्यापक रहा कि दक्षिण के तीन राज्यों को छोड़कर पूरा देश मोदीमय हो गया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की लोकप्रियता के आगे बड़े से बड़े दलों की तमाम रणनीति और लुभावने वादे धराशायी हो गये और पिछली बार की तरह उसे इस बार भी मुंह की खानी पड़ी। पार्टी करीब एक दर्जन राज्यों में अपना खाता भी नहीं खोल पायी और पचास सीटों के अंदर ही सिमट गयी।

वही CM ममता के गढ़  पश्चिम बंगाल में भी बीजेपी (BJP) ने अपना जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए 18 सीटों पर जीत हासिल की है। पश्चिम बंगाल में बीजेपी (BJP) ने इस बार काफी मेहनत की थी. यहां राज्य की 42 सीटों में से टीएमसी को 22 सीटों पर जबकि कांग्रेस को मात्र 2 सीटों पर जीत मिली है।

इस बीच बताते चले पश्चिम बंगाल में भाजपा के शानदार प्रदर्शन से परेशान बंगाल की मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस प्रमुख दीदी ममता बनर्जी ने एक कविता लिखी हैं। बांग्ला भाषा में लिखी गई कविता का शीर्षक है ‘‘मानि ना’’, जिसका हिन्दी में अर्थ है ‘‘मैं नहीं मानती’’ और अंग्रेजी में ‘‘आई डू नॉट एग्री’’ है। ममता ने अपनी कविता भाजपा को सांप्रदायिक पार्टी बताते हुए धर्मनिरपेक्ष लोगों से एक जुट होकर धार्मिक उग्रता के खिलाफ लडऩे की बात कही है। ममता बनर्जी रचित कविता का हिन्दी एवं अंग्रेजी रुपांतर सोशल नेटवर्र्किंग साइट पर तेजी से वायरल हो रहा है।

 

Back to top button