क्राइम

नोएडा मे बिल्डर के दफ्तर में दिन-दहाड़े डाका, 600 किलो की तिजोरी ले गए लुटेरे !

Mahagun OFFICE

अगर आप नोएडा में रहते हैं तो हो जाइए सावधान, मामला कुछ ऐसा है कि यहां देर रात सेक्टर-63 महागुन बिल्डर के कॉर्पोरेट टावर में शनिवार देर रात घुसे बदमाश तीन सिक्यॉरिटी गार्ड को बंधक बनाकर 600 किलो वजनी तिजोरी उठा ले गए।  इस तिजोरी में करीब 40 लाख नकद , 2 लाख के सोने के सिक्के, पासपोर्ट समेत अन्य जरुरी कागजात थे। पुलिस की शुरुआती जांच में सामने आया है कि इस वारदात को पूरी तैयारी के साथ अंजाम दिया गया है। बदमाशों को पता था कि टावर में एक तिजोरी रखी है, जिसमें लाखों रुपये रखे रहते हैं।

जानकारी के मुताबिक,

बताते चले सेक्टर 63 के ए- 19 में महागुन बिल्डर का तीन मंजिला कॉर्पोरेट टावर है। वहां पर कंपनी के सीनियर अधिकारी बैठते हैं। यहां अहम दस्तावेज के साथ आने वाले कैश को एक तिजोरी में रखा जाता था। इस टावर के बगल में ए- 20 नंबर प्लॉट खाली पड़ा है और उनके बीच कोई तारबंदी भी नहीं है। शनिवार रात टावर की सुरक्षा में गनमैन धर्मपाल व दो सामान्य गार्ड पवन और साजन ड्यूटी पर थे। आशंका है कि देर रात गाड़ियों में आए 10- 12 बदमाश बगल के खाली प्लॉट में घुस गए और फिर मौका देखकर दीवार फांदकर टावर के पिछले हिस्से में पहुंचकर छुपकर बैठ गए होंगे।

कैसे दिया डकैती को अंजाम-

  • महागुन बिल्डर के ऑफिस सेक्टर 63 A-19 में है और यहां रियल स्टेट का का काम किया जाता है.
  • पहले बदमाश दीवार फांद कर ऑफिस में घुसे.
  • सुरक्षा गार्डों को बंधक बनाकर उनकी बंदूक छीनी.
  • तिजोरी के पास गए और साथ लाई चाबियां लगाने की कोशिश की, जब चाबियां नही लगीं तो गुस्से में ऑफिस के सारे शीशे तोड़ डाले.
  • डकैत 600 किलो की तिजोरी को सीढ़ियों के पास ले गए और ऊपर से तिजोरी को नीचे फेंक दिया.
  • तिजोरी को कार में डालकर फरार हो गए.

बिल्डर के ऑफिस में दिन-दहाड़े डकैती पड़ने से आस-पास के लोग सहम गए हैं।  पुलिस को शक है कि ऑफिस का कोई कर्मचारी डकैतों से मिला हुआ है. उसको ऑफिस के चप्पे-चप्पे की जानकारी है।  फिलहास सीसीटीवी फुटेज के आधार पर बदमाशों का पता लगाने में जुट गई है।

क्या ऑफिस के किसी शख्स की है मिलीभगत…

पुलिस को शक की दफ्तर का ही कोई व्यक्ति बदमाशों से मिला हुआ था।  सीसीटीवी की तस्वीरों के अनुसार बदमाशों ने एक ही गार्ड की पिटाई की और बाकी दो को मारने का नाटक किया।  इस बिनाम पर पुलिस ने दोनों सुरक्षा गार्डों को हिरासत में ले लिया है। सर्विलांस, फिंगर प्रिंट, स्टार और स्वाट टीम जांच कर रही है।

Back to top button