धर्म

पति को कभी धोखा नहीं देती ऐसी महिलाएं, शास्त्रों में बताए गए हैं ये लक्षण

संसार में बहुत से ऐसे लोग पाए जा सकते हैं, जिनके विचार बड़े ही उदात्त, महान और आदर्शपूर्ण होते हैं, किन्तु उनकी क्रियाएँ उसके अनुरूप नहीं होती इसीलिए कहा जाता है की केवल विचार मात्र ही मानव चरित्र के प्रकाशक प्रतीत नहीं होते मनुष्य का चरित्र विचार और आचार दोनों से मिलकर बनता है और विचार पवित्र हों और कर्म अपावन तो यह सच्चरित्रता नहीं हुई। सच्चा चरित्रवान वही माना जायेगा और वास्तव में वही होता भी है, जो विचार और आचार दोनों को समान रूप से उच्च और पुनीत रखकर चलता है|

मनुष्य के चरित्र का निर्माण संस्कारों के आधार पर होता है। मनुष्य जिस प्रकार के संस्कार संचय करता रहता है, उसी प्रकार उसका चरित्र ढलता रहता है। हिन्दू धर्म में महिलाओं को देवी का दर्जा दिया जाता है. वैसे तो प्रकृति ने स्त्री के भीतर कोमलता, सौम्यता और ममत्व के भाव कूट-कूटकर भरे हैं और अधिकतर महिलाओं में ये भावना होती भी है|

खासकर महिलाओं का। जब पुरुष अपना जीवनसाथी चुनता है तो वह सर्वगुण संपन्न लड़की चाहता हैं, जिसमें विशेषकर कि वो भाग्यशाली हो लेकिन जिस तरह हाथों की पांचों अंगुलियां बराबर नहीं होतीं, वैसे ही सारी महिलाएं भी एक जैसी नहीं होतीं|ऐसे में जरूरी ये हो जाता है कि पता कैसे लगाया जाए कि कौन महिला चरित्रहीन है और कौन महिला पवित्र. आज हम आपको महिलाओं के कुछ लक्षण बताने जा रहे हैं जो आपको एक पवित्र और अच्छी महिला की पहचान करने में मदद करेंगे.

कौन से हैं वो लक्षण, आईये जानते हैं
आपको बता दे शास्त्रों के अनुसार जिन स्त्रियों के माथे पर तिल होता है ऐसी लड़कियों में आत्मबल कूट कूट कर भरा होता है और यही वजह है की ये किसी बिह परिस्थिति में हार नहीं मानती और मुश्किलों का डट कर सामना करती है |ऐसी लड़कियां अपने शादीशुदा जिंदगी को बहुत ही पवित्र भाव से निभाती है और अपने पति को दिल की गहराई से प्यार करती है |इसके साथ ही ऐसी महिलाओं को शास्त्रों के अनुसार माता सीता का रूप माना गया है जिस वजह से ये पवित्रता से परिपूर्ण रहती है |ऐसी महिलाएं अपने घर परिवार में ही पूरा संसार देखती है और हमेशा घर परिवार की खुशियों के विषय में ही सोचती है |

भाग्यशाली स्त्रियों का दूसरा लक्षण होता है स्त्रियों के होठों के ऊपर का तिल और बाल का होना |ऐसा माना जाता है की जिन महिलाओं के शरीर पर ऐसे निशान होते हैं वो बहुत ही धार्मिक किस्म की महिलाएं होती है और धर्म कर्म में विशेष रूचि रखती है |इसके साथ ही ऐसी महिलाएं अपने पति का हर कदम पर साथ देती है और अपने रिश्ते को बहुत ही प्रेम पूर्वक और विश्वास के साथ निभाती है |

इसके साथ ही जिन स्त्रियों का नाम S अक्षर से होता है ऐसी स्त्रियों को भाग्यशाली माना जाता है |कहा जाता है इस नाम की लड़कियां अपने पार्टनर का बहुत ज्यादा अच्छे से ख्याल रखती है।वह अपने से भी ज्यादा अपने जीवन साथी का ध्यान रखती है।किसी भी रिश्ते को सच्चे मन से निभाती है।एस नाम वाली लड़कियाँ दिल की बहुत ज्यादा सच्ची होती है।वह अपने पति को कभी भी धोखा नहीं दे सकती है।

Back to top button