ख़बरदेश

मुस्लिम देशो के मंच पर सुषमा ने आतंकवाद पर पाक को दिया करारा जवाब…

Sushma Swaraj

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने शुक्रवार को मुस्लिम देशों के संगठन ओआईसी के उद्घाटन सत्र में कहा कि आतंक लोगों की जिंदगियां बर्बाद कर रहा है। यह देशों को अस्थिर बना रहा है और दुनिया को विनाश की ओर ले जा रहा है। ओआईसी में पहली बार भारत को आमंत्रित किया गया है और इसका विरोध करते हुए पाकिस्तान बैठक में शामिल नहीं हुआ।

मुस्लिम देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक में सुषमा ने कहा कि आतंक धर्म की गलत परिभाषा से प्रेरित होता है और उसके खिलाफ लड़ाई किसी धर्म के खिलाफ नहीं है। उन्होंने कहा कि वह भारत की ओर से दुनिया के मुसलमानों के लिए भारत का संदेश लेकर आई हैं। भारत हमेशा से एक सत्य और उसे विभिन्न मार्गों के प्राप्ति को स्वीकारता रहा है|

भारत विविधता को सम्मान देते रहा है। भारत के मुसलमान भारत की विविधता का एक अंग हैं। उन्होंने कहा कि भारत ज्ञान का पर्वत, शांति का दूत, विश्वास और परंपराओं का स्रोत, कई धर्मों और प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। भारत महात्मा गांधी का देश है, जहां हर प्रार्थना के अंत में सबके लिए शांति की दुआ मांगी जाती है।

विदेश मंत्री ने कहा, ‘आतंकवाद विभिन्न कारणों का सहारा लेता है, लेकिन अपने मंसूबों में कामयाब होने के लिए यह धर्म को तोड़-मरोड़ कर पेश करता है और भ्रमित आस्थाओं से प्रेरित होता है।’ उन्‍होंने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ जंग किसी धर्म के खिलाफ नहीं है। उन्‍होंने यह भी कहा कि इस्‍लाम सहित दुनिया का हर धर्म शांति, करुणा और भाईचारे का संदेश देता है।

पाकिस्‍तान को कड़ा संदेश देते हुए सुषमा ने दो टूक कहा, ‘अगर मानवता को बचाना है तो हमें आतंकवाद को प्रश्रय और प्रोत्‍साहन देने वाले देशों से कहना होगा कि वे अपने यहां आतंकियों के सुरक्षित पनाहगाह बंद करें, उन्‍हें मिलने वाली वित्‍तीय मदद पर रोक लगाएं।’

इस दौरान उन्‍होंने यह भी कहा कि भारत की करीब 1.3 अरब आबादी में 18.5 करोड़ से अधिक मुस्‍ल‍िम आबादी है, जो देश की विविधता को दर्शाता है। इंडोनेशिया, मलेशिया का जिक्र करते हुए उन्‍होंने कहा कि भारत के एशिया, अफ्रीका सहित दुनियाभर में कई मुस्लिम देशों से अच्‍छे संबंध हैं और आर्थिक विकास के लिए भारत सबके साथ खड़ा है।

Back to top button