धर्म

सुहागन महिलाएं भूल से भी न पहने ये 3 चीजे, वरना पति की जान पर आ सकती है आफत

शादीशुदा महिलाओं को भूलकर भी नहीं पहननी चाहिए यह चीज़ें वरना....

कहते हैं घर की बेटी और बहू लक्ष्मी का रूप होती हैं. ये बात बिलकुल सत्य हैं. घर में बेटी का होना मतलब साक्षात लक्ष्मी जा प्रवेश माना जाता हैं. ये बेटियां बेटों से भी ज्यादा सुख और सम्रद्धि घर वालो को देती हैं. जहाँ एक तरफ घर की बेटी शादी के बाद विदा होकर चली जाती हैं तो वहीँ दूसरी और किसी दुसरे की बेटी हमारे घर बहू बनकर प्रवेश करती हैं. इस तरह हमारे घर में लक्ष्मी का वास हमेशा बना रहता हैं. इस बीच आपको बताते चले  इसी के साथ लोग वास्तु दोष या वास्तु शास्त्र पर खूब विश्वास करते हैं और महिलाओं के बारे में ऐसी कई बातें लिखी हुईं हैं जो उन्हें नहीं करना चाहिए तो आज हम आपको बताते हैं कि ऐसी कौन सी चीज़े हैं जिन्हे शादीशुदा महिलाओं के पहनने पर उन्हें नुकसान हो सकता है और उनके पति की जान तक जा सकती है. आइए जानते हैं उन चीज़ों के बारे में.

नहीं पहननी चाहिए ये चीजें –

  •  कहते हैं शादीशुदा महिलाओं को कभी भी सफ़ेद साड़ी नहीं पहननी चाहिए, क्योंकि सुहागिन महिलाओं का सफ़ेद साड़ी पहनना अशुभ माना जाता हैं. इसी के साथ इस साड़ी को विधवा महिला का प्रतीक माना जाता हैं क्योंकि जब किसी महिला का पति मर जाता हैं तो उसे सफ़ेद साड़ी पहनने को दिया जाता है. इस कारण से शादीशुदा महिलाओं को सफेद साड़ी नहीं पहनना चाहिए.
  • आज के समय में महिलाएं सोने के पायल और बिछिया पहनने लगी हैं लेकिन कभी भी पैरों में सोने से बनी कोई चीज नहीं पहननी चाहिए क्योंकि सोने को कुबेर देवता का प्रतीक माना जाता हैं और यदि आप सोने के पायल या बिछिया पहनती हैं तो आपसे कुबेर देवता नाराज हो जाते हैं.
  •  कहते हैं चूड़ी भी सुहाग का प्रतीक होती हैं और यह सुहागिन महिलाओं का एक शृंगार होती है लेकिन कभी भी सुहागिन महिलाओं को हाथों में काले रंग की चुड़ियाँ नहीं पहनना चाहिए क्योंकि इससे उनके सुहाग को खतरा होता है और उनके पति की जान भी जा सकती है.

 

Back to top button