जरा हट के

90 साल की मां को बाहर बांधता था बेटा, एक दिन पड़ी तेज-तर्रार SDM की नजर, उसके बाद दंग रह गया इलाका

शब्दों में माँ की महिमा का बखान करना सम्भव ही नही हैं. पुराणिक ग्रंथो में भी इस बात का जिक्र आया हैं की स्वयं माँ की ममता का सुखद अनुभव करने के लिए भगवान धरती पर माँ की कोख से जन्म लेते थे । कहा भी गया हैं की धरती पर यदि कही भगवान हैं तो वह माँ हैं लेकिन आजकल के कुछ कलियुगी औलादों को जैसे ये बात पता ही नही और आये दिन किसी ना किसी कलियुगी औलाद द्वारा अपने माता पिता के साथ दुर्व्यवहार की खबरे आती ही रहती हैं.

हालाकि इस समय देश में मोदी सरकार हैं, जो माँ के महत्त्व को अच्छी तरह जानती हैं और इसके लिए कई कानून भी बना चुकी हैं.

आज हम आपको एक ऐसी घटना के बारे में बताने जा रहे हैं जिसको जानकर हर कोई हैरान रह गया की एक बेटा अपनी माँ के साथ ऐसा कैसे कर सकता हैं. लेकिन इसके बाद जो इस बेटे के साथ हुआ उसको जानकर आप भी देश के प्रशाशन के मुरीद हो जायेगे. आइये आपको पूरा मामला बताते हैं. उन्नाव से इस खबर के अनुसार वहां एक शख्स ने अपनी 90 साल की बूढी माँ को बाहर पेड़ से बाँध रखा रखा था. ठंड से कपकपाती बूढी माँ को भी शायद पता नही होगा की जिसको वह लाड प्यार से बड़ा करके पालेगी वह उसके साथ ऐसा करेगा.

बीते शुक्रवार तेज तर्रार एसडीएम पूजा अग्निहोत्री वहां से गुजर रही थी अचानक उनकी नजर उस बूढी माँ पर पड़ी और उन्होंने अपना काफिला रोक लिया. असल में एसडीएम साहिबा अजगैन क्षेत्र के जमुका गाँव के मजरा कईथर में अग्नि पीडितो की मदद के लिए वहां पहुंची थी और जब वह वापस आ रही थी तो उन्होंने बीच रास्ते में जंजीरों से बंधी इस बूढी माँ को देखा और फौरन उनके पास पहुँच गयी.

90 साल के करीब उम्र की बूढी माँ को ठंड से ठिठुरता और बंधा देखकर एसडीएम पूजा अग्निहोत्री पारा हाई हो गया और उन्होंने उस बूढी माँ के बेटो और परिजनों को बुलाया. बेटो ने बताया की उनकी माँ पागल हैं लिहाजा वह उसको बांधकर रखते हैं.  इस बात पर एसडीएम पूजा अग्निहोत्री और गुस्सा हो गयी और उन्होंने फौरन पुलिस को बुलाकर उस बूढी माँ के बेटो को गिरफ्तार करवा दिया तथा उस बूढी माँ कलावती को जंजीरों से मुक्त करवा दिया.

Back to top button