उत्तर प्रदेशख़बर

लोकसभा की लड़ाई: सपा-बसपा का वो फॉर्मूला जिसमें कांग्रेस के लिए भी अच्छी खबर

राजनीतिक गलियारों मे सभी की नज़रें समाजवादी पार्टी के अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी की मायवती की होने वाली प्रेस कॉन्फ्रेंस पर टिकी थी. सभी के मन मै यह जानने की उत्सुकता था कि आखिर दोनों नेता राजनीति को अब किस दिशा मे लेकर जाएंगे. आखिरकार प्रेस कॉन्फ्रेंस मे दोनों नेताऔं ने एक साथ आकर गठबंधन का औपचारिक ऐलान कर दिया है. इस ऐलान के मुताबिक, उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में 38-38 सीटों पर समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी चुनाव लड़ेगी. हालांकि कांग्रेस को इस गठबंधन मे जगह नहीं मिली है लेकिन दिलचस्प बात यह है कि कांग्रेस की परंपरागत सीट अमेठी और रायबरेली में महागठबंधन का कोई उम्मीदवार नहीं उतारने का फैसला लिया गया है.

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अखिलेश यादव ने तो कांग्रेस पर कोई हमला नहीं किया लेकिन मायावती ने कांग्रेस और बीजेपी दोनों पर जमकर निशाना साधा. मायावती ने कहा कि बोफोर्स की वजह से कांग्रेस की सरकार गई थी, अब राफेल की वजह से बीजेपी की सरकार जाएगी.मायावती ने आगे कहा कि कांग्रेस या बीजेपी कोई आए, दोनों में एक ही बात है.कांग्रेस और बीजेपी की नीतियां एक जैसी है. दोनों सरकारों का हाल एक जैसा ही रहां हैं. अगर हम कांग्रेस से गठबंधन करते हैं तो हमें घाटा होगा.क्योंकि कांग्रेस के समय में भी भ्रष्टाचार हुआ है.

उन्होंने आज की प्रेस.कांफ्रेंस को प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह दोनों गुरु चेले की नींद उड़ाने वाली अति महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक प्रेस कांफ्रेंस कहा है. उनका कहना है कि देशहित में उन्होंने लखनऊ गेस्ट हाउस कांड को किनारे रखा है.उन्होंने उम्मीद जताई कि जैसे हमने मिलकर उपचुनावों में बीजेपी को हराया है, उसी तरह हम लोकसभा चुनाव में भाजपा को हराएंगे. इस मौके पर अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा के अहंकार का विनाश करने के लिए सपा-बसपा का मिलना जरूरी था.उनके समाजवादी कार्यकर्ताओं से कहा कि आज से कार्यकर्ता यह गांठ बांध ले कि मायावती जी का अपमान मेरा अपमान होगा.भारत मां का कोई भी बेटा अगर ऐसा करता है तो वह गलत है.

मायावती को प्रधानमंत्री बनाने के सवाल पर सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश ने देश को हमेशा प्रधानमंत्री दिया है, मैं चाहूंगा कि इस बार भी उत्तर प्रदेश से ही कोई प्रधानमंत्री बने. बीजेपी पर हमला करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि देश में अराजकता का माहौल है. देश में कुशासन का माहौल है. बसपा और सपा का सिर्फ चुनावी गठबंधन नहीं है, बल्कि बीजेपी द्वारा किये जा रहे अन्याय और अत्याचार के खिलाफ भी है.

Back to top button