ख़बरदेश

नामांकन भरने के बाद बोलीं सोनिया गांधी- 2004 ना भूलें पीएम मोदी..लेकिन क्यों ?

आत्मविश्वास से लबरेज यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने गुरुवार को रायबरेली सीट से नामांकन भरा. इस वक्‍त कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी भी उनके साथ मौजूद थीं. पर्चा भरने के बाद सोनिया गांधी से पत्रकारों ने सवाल पूछा- क्या पीएम मोदी अजेय हैं? इस सवाल का जवाब देते हुए सोनिया गांधी ने कहा, ‘बिल्कुल नहीं, 2004 को मत भूलिए. तब वाजपेयी जी भी अजेय लग रहे थे, लेकिन हम जीत थे.’

सोनिया गांधी ने जिस चुनाव का जिक्र किया वाकई उस चुनाव के नतीजों ने चौंका दिया था. 1999 में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनी थी. इस लिहाज़ से सरकार बनाने का न्योता मिला अटल बिहारी वाजेपयी को. वाजपेयी जी ने अपने साथ 21 दलों को मिलाया और सरकार भी बनाई. सरकार बनते ही अटल बिहारी वाजपेयी ने पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान से अच्छे रिश्ते की कवायद की लेकिन बदले में करगिल वार मिला. खैर, इसके बाद सरकार चली. कई बार कई मुद्दों को लेकर सरकार को बैकफुट में भी जाना पड़ा लेकिन सरकार ने सफलता पूर्वक पांच साल बिताए.

साल 2004 में दोबारा चुनाव आ गए. तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने शाइनिंग इंडिया का नारा दिया. इस नारे के साथ बीजेपी ने प्रचार-प्रसार के लिए करोड़ों रुपये भी खर्च किए. लेकिन फिर भी भाजपा चुनाव हार गई थी.

अगर आज की बात करें तो सोनिया गांधी 5वीं बार रायबरेली लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने जा रही हैं. सोनिया गांधी का मुकाबला कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए दिनेश प्रताप सिंह से है. समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी पार्टी ने कांग्रेस के इस गढ़ में अपना प्रत्याशी नहीं उतारा है. रायबरेली में पांचवें चरण में 6 मई को मतदान होना है.

Back to top button