क्राइम

SMASH : टार्गेट खुद ढूंढकर लॉक कर लेती है ये इजरायली गन, ईरानी परमाणु वैज्ञानिक का इसी से हुआ मर्डर

ईरान के लिए परमाणु बम बना रही टीम के शीर्ष वैज्ञानिक डॉ मोहसिन फखरीजादेह की हत्या के लिए इजरायल को दोषी ठहराया जा रहा है। ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी और वहां के सर्वोच्च धर्मगुरू अयातुल्लाह अली खमनेई ने सीधे तौर पर इजरायल का नाम लेते हुए आरोप लगाया है। वहीं, ईरानी सेना के वरिष्ठ अधिकारियों ने आरोप लगाया है कि फखरीजादेह के ऊपर रिमोट से कंट्रोल की जा रही मशीनगन से गोलियां बरसाई गई थीं और फिर हमला करने वाली गाड़ी में धमाका हो गया। अधिकारियों ने यह भी कहा है कि इसमें इजरायल के किसी आदमी के घटनास्थल पर मौजूद रहने के कोई सबूत नहीं मिले हैं।

अब दुनियाभर में चर्चा हो रही है कि आखिर वह कौन सी गन है, जिससे इतने खतरनाक तरीके से 24 घंटे हाई सिक्योरिटी में रहने वाले ईरानी वैज्ञानिक की हत्या कर दी गई। इस बंदूक की गोलियों ने बूलेट प्रूफ कहे जाने वाले वैज्ञानिक के कार तक को भेद दिया था। इजरायल के ऊपर यह आरोप इसलिए भी लग रहे हैं क्योंकि कुछ दिन पहले ही वहां की एक कंपनी ने मैन पोर्टेबल ऑटोमेटिक बंदूक को लॉन्च किया था। कंपनी ने दावा किया था कि यह बंदूक अपने आप लक्ष्य को स्कैन कर निशाने को लॉक कर सकती है। जिसके बाद दूर बैठा ऑपरेटर टेबलेट जैसी वायरलेस डिवाइस से जब चाहे तब फायर कर सकता है।

Mohsen Fakhrizadeh: Israel's remote-controlled killer gun suspected of killing Iranian nuclear scientist – israel remote controlled gun turrets smash 2000 who killed iran top nuclear scientist mohsen fakhrizadeh | MBS News

ईरानी सेना के वरिष्ठ अधिकारी ने की पुष्टि
ईरान की सेना इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स (IRGC) के जनरल अली शमखानी ने डॉ मोहसिन फखरीजादेह को सुपुर्दे खाक करने के बाद दावा किया कि इसे रिमोट कंट्रोल्ड मशीनगन के जरिए अंजाम दिया गया। असली शमखानी ईरान की सर्वोच्च राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सचिव भी हैं। वे इजरायल और अमेरिका के खुफिया एजेंसी से जुड़ी जानकारियों के प्रमुख के रूप में भी काम कर चुके हैं।

ऐसे की गई ईरानी परमाणु वैज्ञानिक की हत्या
शामखानी ने फखरीजादेह के अंतिम संस्कार में कहा कि दुश्मन ने अपने लक्ष्य तक पहुंचने के लिए पूरी तरह से नई पद्धति, शैली, पेशेवर और विशेष तरीके का इस्तेमाल किया। ईरानी मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि जब ईरानी वैज्ञानिक फखरीजादेह अबसार शहर के करीब पहुंचे तब एक गोल चक्कर के पास खड़े ट्रक के ऊपर से अचानक फायरिंग शुरू हो गई। इस ट्रक पर ही रिमोट कंट्रोल्ड गन को लगाया गया था। हमले को अंजाम देने के बाद उस ट्रक में जोरदार धमाका हुआ जिससे सभी साक्ष्य नष्ट हो गए।

Smart Shooter Rolls Out 'Smash Hopper' Remote-Controlled Weapon Station | Israel Defense

किसी भी गाड़ी या ट्रायपॉड के ऊपर लगाया जा सकता है
इजरायली कंपनी स्मार्ट शूटर ने जुलाई में SMASH प्रोडक्ट से जुड़ी SMASH Hopper गन को विकसित किया था। इस गन को लाइट रिमोट कंट्रोल्ड वेपन स्टेशन (LRCWS) के नाम से भी जाना जाता है। यह सिस्टम SMASH 2000 कम्प्यूटरीकृत गनसाइट और दूर से नियंत्रित किए जाने वाले माउंट से मिलकर बना है। जिसे किसी ट्रायपॉड, जमीन या किसी गाड़ी के ऊपर लगाया जा सकता है।

लक्ष्य को ढूंढकर खुद लॉक कर लेती है यह गन
SMASH 2000 गनसाइट को किसी ऑटोमेटिक गनमाउंट की जरूरत नहीं होती है। यह अपने आप ही लक्ष्य को ढूंढकर उसे लॉक कर लेता है। जिसके बाद दूर बैठा ऑपरेटर को जब लगता है कि अब फायर करने से लक्ष्य को ज्यादा नुकसान होता, तब वह रिमोट कंट्रोल के जरिए फायर कर सकता है। ईरान में भी कहा जा रहा है कि हो सकता है कि इसी बंदूक के जरिए हमले को अंजाम दिया गया हो। हालांकि, इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हो सकी है।

Back to top button