उत्तर प्रदेश

शिवपाल  का विवादित बयान, बोल दी राम मंदिर पर बड़ी बात…

रैली को संबोधित करते हुए शिवपाल सिंह यादव (फोटो- ट्विटर)

लखनऊ।   समाजवादी पार्टी से बगावत कर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) बनाने वाले शिवपाल यादव ने उच्चतम न्यायालय के सम्मान की अपील करते हुये कहा है कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण पर विवादित बयान दे डाला, उन्होंने कहा  अयोध्या में विवादित जमीन पर बाबरी मस्जिद के स्थान पर मंदिर नहीं बनना चाहिए. राममंदिर बनाना है तो सरयू के किनारे बनाओ, लेकिन बाबरी मस्जिद के स्थान पर मंदिर नहीं बनना चाहिए. एक बार फिर साम्प्रदायिक शक्तियां फिर सिर उठा रही है, मुझे लगता है मुझे फिर से संघर्ष करना पड़ेगा.

बीजेपी को हटाने के लिए रैली बुलाई

शिवपाल ने कहा कि हमें बीजेपी को हटाने के लिए रैली की है. ये ऐतिहासिक दिन है जब दलित, पिछड़े, किसान, नौजवान इकट्ठा हुए हैं. ये रैली फैसला और परिवर्तन के लिए बुलाया गया है. बीजेपी की सरकार से सभी दुखी है, देश पर संकट है. हमें खुशी है कि पीएम मोदी का 56 इंच का सीना है, 4 साल में 2-4 इंच और बढ़ा लिया होगा. हमारे जवान शहीद हो रहे है, लेकिन हम एक इंच जमीन भी नहीं ले पाए.

उन्होंने कहा कि हमारे साथ छोटे छोटे दल भी मौजूद है, भारतीय किसान यूनियन के लोग है. नेताजी भी हमारे साथ बैठे हैं, उनके साथ 40 साल किया है. हम कभी अलग नहीं होना चाहते थे, मैंने कभी कुछ नहीं मांगा लेकिन ये नौबत क्यों आई, नेताजी ने जो आदेश दिया उसका पालन किया है. मैंने परिवार में भी चाहे बड़ा हो या छोटा है सबका आदेश माना है. पार्टी न टूटे इसका प्रयास मैन किया नेताजी ने भी किया लेकिन चापलूसों और चाटुकारों की वजह से ये नौबत आई.

मुलायम भी पहुंचे

खास बात है कि रमाबाई मैदान में पार्टी की ओर से आयोजित इस जनाक्रोश रैली में शिवपाल यादव के साथ सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव भी नजर आए. हालांकि, वह कार्यकर्ताओं के बर्ताव से दुखी दिखे.

मंच से मुलायम सिंह को याद दिलाया कि उनके आदेश से पार्टी बनाई

शिवपाल ने कहा कि मैंने प्रगीतिशील पार्टी बनाई नेताजी, आपसे पूछकर बनाई, आपके इजाजत से बनाई है, आपके सामने भगवती सिंह के सामने मैंने पूछा था और तब पार्टी बनाई है. जातियों को उनकी संख्या के आधार पर आरक्षण मिले, जाति की जनगणना हो और उनकी तादात के हिसाब से आरक्षण तय हो. जिन्हें सम्मान नहीं मिल रहा हम उन्हें सम्मान देंगे, अपील करता हूं कि सभी छोटे दल हमारे पास आएं हम उन्हें अपने साथ लेंगे.

प्रत्याशी पार्टी तय करेगी

इससे पहले शिवपाल यादव ने आजतक से खास बातचीत में कहा था कि मुलायम सिंह अगर समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़ते हैं, तो पार्टी उनके खिलाफ उम्मीदवार देगी या नहीं, इस पर पार्टी फैसला करेगी. वो अपनी पार्टी से मुलायम सिंह को मैनपुरी सीट लाना चाहते हैं, लेकिन अगर वो दूसरी पार्टी से चुनाव लड़ते हैं, तो पार्टी उनके सलाह पर उम्मीदवार देगी या नहीं यह पार्टी तय करेगी.

 

Back to top button