उत्तर प्रदेश

शादी की खुशियो के बीच छाया मातम, यमुना नदी में नहाने गये चार बच्चो में दो की मौत

किशनपुर थाना क्षेत्र में शनिवार को यमुना नदी में नहाने गये चार बच्चे डूब गये। बच्चों के डूबने के बाद मची चीख पुकार सुनकर वहां पहले से मौजूद ग्रामीणों ने डूब रहे दो बच्चों को बचा लिया। जबकि अन्य दो बच्चे गहरे पानी में समा गये। गोताखोरों की मदद से पुलिस ने दो शवों को खोज निकाला। किशनपुर कस्बा निवासी संतोष के बेटे धर्मेन्द्र की 23 मई को शादी थी। इसके लिए रिश्तेदार शादी समारोह में शरीक हुए। घर पर खुशियों का माहौल चल रहा था। शनिवार को शादी के बाद रस्म को लेकर परिवार के लोग यमुना नदी गये थे।

गोताखोरों को बुलाया गया

उनके साथ धाता निवासी कंचन का बेटा अर्पित (10) व अकिंत (09), किशनपुर नई बस्ती निवासी फूलचंद्र का बेटा राहुल (11) और किशनपुर निवासी संतोष की पुत्री मनीषा (10) भी सभी के साथ गई थी। गर्मी के मौसम को देखते हुए कुछ लोग नदी में नहाने लगे तो उनके साथ बच्चें भी पानी में चले गये। यमुना नदी में नहाते समय चारों बच्चें गहरे पानी में चले गये और डूबने लगे।
चीख-पुकार सुनकर पहले से मौजूद ग्रामीणों ने अर्पित व राहुल को बाहर निकाल लिया। लेकिन जब तक अंकित और मनीषा को खोजने पहुंचे वह गहरे पानी में समा चुके थे। परिजनों ने हादसे की खबर पाई तो कोहराम मच गया। नदी पहुंचकर शवों की खोजबीन की गई कोई सफलता नहीं मिली। ग्रामीणों की सूचना पर इलाकाई पुलिस पहुंच गई और गोताखोरों को बुलाया गया।

शवों को खोजकर निकाला

गोताखोरों ने दो घंटे की कड़ी मशक्कत अंकित और मनीषा के शवों को खोज निकाला। संतोष के घर में चल रही शादी की खुशियां मातम में बदल गई। थानाध्यक्ष ने बताया कि शादी समारोह के बाद चार बच्चे यमुना नदी में नहाने के दौरान डूब गए थे। इसमें दो की मौत हो गई। शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
Back to top button