जरा हट के

ये खबर पढ़ें हिन्दू-मुस्लिम पर लड़ने वाले, जब मुस्लिम लड़की ने बुर्खा उतार बचाई हिंदू की जान

एक तरफ जहाँ पूरी दुनिया में हिन्दू और मुस्लिम और ना जाने कितने ही धर्म और जाती को लेकर लड़ाईया लड़ी जा रही हैं लोगो को मौत के घाट उतार दिया जा रहा हैं वैसे में सऊदी अरब जैसे मुस्लिम प्रधान देश से मिल रही इस एक मुस्लिम लड़की की बहादुरी ने पूरी दुनिया का ध्यान अपनी तरफ खींच लिया हैं | एक तरफ सऊदी अरब में जहाँ मुस्लिम लड़कियों को बुरखे के अंदर रखा जाता हाँ और उन्हें खुलकर जीने की उतनी आज़ादी नहीं हैं वैसे यह खबर पूरी दुनिया के लिए एक मिसाल हैं |

4

दरअसल सऊदी अरब की 22 साल की जवाहर सैफ अल कुमैती अपने दोस्तों के साथ खइमाह शहर की तरफ जा रहीं थीं तभी उन्होंने देखा की दो ट्रक आपस में भीड़ गए हैं और उसमे आग लग गयी हैं | जहाँ एक तरफ इस हादसे को देखने के लिए मर्दो की भीड़ जमा थीं वहीं जवाहर सैफ अल कुमैती ने अपनी बहादुरी का परिचय देते हुए ट्रक की तरफ बढ़ गयी और देखा की ट्रक के भीतर से कराहने के आवाज़ आ रही हैं |

2

उस जाबांज़ लड़की ने अपने बुरखे को निकाल ट्रक में लगी आग को बुझा दिया और हरकीरत नाम के भारतीय ट्रक ड्राइवर को बचा लिया और तब तक वह कड़ी रही जब तक सहायता के लिए इमरजेंसी सर्विस वैन नहीं आ गयी | एक मुस्लिम देश में बुर्खे की क्या अहमियत होती हैं ये वहां की लड़कियों को ही पता होती हैं | लेकिन जवाहर सैफ अल कुमैती की बहादुरी ने वहां खड़े लोगो को एक सीख दे दी हैं |

3

हालाँकि इस वाकये के बाद जवाहर सैफ अल कुमैती वहां से अपनी मंज़िल की तरफ निकल गयी लेकिन जब इस बात की सूचना वहां के तमाम आला अधिकारियों को पता चली तब उन्हें बुलाकर दोनों ही देशो के लोगो ने सम्मान दिया |

4

यह घटना सऊदी में अक्टूबर महीने में घटी थीं जिसके बाद जवाहर सैफ अल कुमैती ने अपनी बहादुरी और मुश्तैदी का परिचय दिया | किसी की जान बचाना ही सबसे बड़ी बात होती हैं वो भी तब जब आप खुद की जान खतरे में डाल रहे हो |

Back to top button