ख़बरदेश

मोदी से ‘नाराज’ नीतीश को मिला लालू का न्योता, जानिए क्या जवाब दिया

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में कैबिनेट पद को लेकर भाजपा के साथ चल रही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अनबन के बीच लालू प्रसाद यादव की पार्टी राजद ने उनको महागठबंधन में वापस आने का खुला ऑफर दे डाला है. लेकिन इस ऑफर को ठुकराते हुए जेडीयू ने बोला है कि एनडीए में सबकुछ फर्स्ट क्लास चल रहा है.

दरअसल राजद उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह ने सोमवार को पत्रकारों के एक प्रश्न के उत्तर में बिना नीतीश कुमार का नाम लिए कहा, “नीति यही कहती है कि भाजपा को पछाड़ने के लिए सभी को एकसाथ आना चाहिए. इसमें कहीं छंटाउं और चुनने-बिनने की बात नहीं होनी चाहिए.” नीतीश कुमार का नाम लेने पर उन्होंने कहा कि सभी साथ आएं, मतलब सभी साथ आएं. हालांकि, अब जेडीयू ने महागठबंधन में वापसी को बात को खारिज कर दिया है.

बता दें कि बिहार एनडीए में सब कुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है. जेडीयू और बीजेपी भले ही सब कुछ अच्छा होने का दावा कर रहे हों, लेकिन बिहार का राजनीतिक घटनाक्रम दोनों दलों के बीच पैदा हुए तनाव की पुष्टि कर रहा है. इसकी बानगी तब देखने को मिली जब पटना में रविवार को जेडीयू की इफ्तार पार्टी में बीजेपी का कोई नेता नहीं पहुंचा. बात यहीं खत्म नहीं हुई. पटना में ही हुई बीजेपी की इफ्तार पार्टी में जेडीयू के नेता भी नहीं पहुंचे.

इस विवाद की शुरुआत तब हुई, जब लोकसभा चुनाव में बहुमत के साथ जीत के बाद भाजपा ने अपने सभी सहयोगी दलों को एक-एक मंत्री पद का ऑफर दिया, लेकिन इसको लेकर नीतीश कुमार ने नाराजगी जताई. नीतीश कुमार ने यह प्रस्ताव ठुकराते हुए कहा था कि जदयू सरकार का हिस्सा नहीं बनेगी.

Back to top button