ख़बरदेश

ज़ी के इश्तेहार पर बोले रवीश कुमार- मेरा टाइम कभी खत्म नहीं होने वाला

मीडिया सेक्टर के जाने माने  वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार को आज के ज़माने में कौन नहीं जानता. बताते चले एक बड़े अवॉर्ड्स शो में वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार को   NDTV इंडिया को बेस्ट न्यूज चैनल ऑफ द ईयर के अवॉर्ड से नवाजा गया है. ENBA अवॉर्ड्स 2018 में इसकी घोषणा की गई थी . इस मौके पर NDTV इंडिया के रिपोर्टर सौरभ शुक्ला को यंग प्रोफेशनल ऑफ द ईयर (एडिटोरियल हिंदी) चुना गया. NDTV इंडिया की तरफ से यह पुरस्कार लेने के लिए रवीश कुमार के साथ-साथ NDTV इंडिया की पूरी टीम मौजूद थी. इस बीच ENBA अवॉर्ड शो के दौरान वरिष्ठ पत्रकार ने जहर फैलाने वाले मीडियाकर्मियों को लेकर विशेष टिप्पणी की. उन्होंने कहा कि हमें हमेशा इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि हम समाज में जहर नहीं घोलना चाहिए इस बीक उन्होंने कहा  रवीश का टाइम कभी खत्म नहीं हो सकता है. आपकी टीआरपी सौवें माले पर चढ़ जाएगी तब भी रवीश की जरूरत रहेगी. पत्रकारिता में आम आदमी हमेशा किसी रवीश जैसे को ढूंढेगा.

अवॉर्ड्स शो के दौरान वरिष्ठ पत्रकार ने बोली ये बात

इस बड़े अवॉर्ड्स शो के  मौके पर वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार ने इस  चुने जाने पर सभी का दिल से सुक्रिया अदा किया और आगे उन्होंने  कहा था कि हमें ऐसे माहौल में उन्माद की भाषा के इस्तेमाल से बचने की जरूरत है. इस पेशे का उसूल यही है कि हम काम करते हुए हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि न तो खुद भावनाओं में बहेंगे और न ही किसी को उकसाएंगे. रवीश कुमार ने कहा कि आप सब जब यहां से जाएंगे तो अपने अपने ट्वीट को पढ़िएगा. मैं मजा खराब नहीं करना चाहता लेकिन आप चैनल वालों ने सच में हिन्दुस्तान का मजा खराब कर दिया है.

जो भाषा और जिस तरह से काम चल रहा है पिछले पांच साल से आज या कल जब कोई दस साल बाद यू-ट्यूब के तहखाने में जाकर ढूंढेगा कि इस समय कौन क्या कर रहा था तब पता चलेगा कि कोई एनडीटीवी भी था जो भीड़ नहीं बन रहा था. न हम भीड़ बन रहे थे न हम भीड़ बना रहे थे. उन्होंने कहा कि मैं भाषण नहीं दे रहा हूं. मैंनें पहले भी कहा कि आज टीवी का पर्दा जो है वह बहुत तरीकों की चुनौतियों से गुजर रहा है. बिजनेस की चुनौतियां हैं उसकी.

Back to top button