धर्म

मरते मरते रावण बता गया महिलाओं के बारे में ये 3 खास बातें, जरूर पढ़ लीजिए एक बार

शास्त्रों में बताया गया है कि रावण एक ऐसा शख्स था जिसने न केवल भगवान राम से दुश्मनी ली थी बल्कि मरते मरते स्त्रियों के बारे में 3 बाते ऐसी भी कही थी जिनके बारे में जानने के बाद आप ये सोचने पर मजबूर हो जायेंगे कि रावण ने ये बाते क्यों कही थी अब पूरी दुनिया रावण को एक बुरे इंसान के रूप में याद करती है और इसी वजह से दशहरे के दिन पुरे देश में रावण का पुतला भी जलाया जाता है लेकिन एक बात ये भी सच है कि रावण भगवान राम से भगवान राम से भी ज्यादा ज्ञानी था लेकिन उसने माता सीता का हरण करके खुद अपनी मौत को बुलावा दिया था भले ही रावण ने सीता का हरण किया था लेकिन इसमें कोई शक नही कि रावण की सहजशक्ति की वजह से ही सीता जी की मर्यादा बची रही.

माता सीता का हरण करने के बाद भी रावण ने कभी उनके साथ दुर्व्यवहार नही किया था यहाँ हमारा मकसद रावण को अच्छा बताना नही है बल्कि ये कहना चाहते है कि इन्सान की एक गलती ही उसकी पूरी जिन्दगी तबाह कर सकती है और यही कुछ रावण के साथ हुआ. फिलहाल हम आपको उन बातो के बारे में बताने जा रहे है जो रावण ने मरते मरते स्त्रियों के बारे में कही थी आइए जानते है कौन सी ये 3 बाते जो रावण ने कही थी.

पहली बात – सबसे पहली बात जो रावण ने कही थी स्त्रियाँ झूठी होती है और वे बहुत जल्द अपनी बातो से पलट जाती है इसलिए उनपर कभी यकीन नही करना चाहिए.  एक स्त्री किसी को भी अपनी बातो में उलझाकर 2 लोगो को आपस में लड़ा सकती है

दूसरी बात – रावण ने दूसरी बात ये कही थी कि एक स्त्री के पेट में कोई बात नही पचती है जी हाँ अगर किसी औरत को कोई गुप्त बात पता चल जाए तो वह फौरन उस बात को आग की तरह फैला देती है. इसके साथ ही रावण ने ये भी कहा था कि स्त्रियाँ किसी न किसी की चुगलियाँ जरुर करती है. फिर भले ही वो कोई भी क्यों न हो.

तीसरी बात – अंत में रावण ने ये कहा था की स्त्रियाँ बहुत ही स्वार्थी स्वभाव की होती है यानी वे  काफी मतलबी होती है रावण का मानना था कि स्त्रियाँ अपना मतलब पूरा करने के लिए कुछ भी कर सकती है इसलिए भूलकर भी स्त्रियों की बातो में नही आना चाहिए.

Back to top button