देश

येचुरी पर रामदेव का पलटवार, कहा ‘कम्युनिस्टों का बहिष्कार करें देशभर के हिंदू’

Image result for येचुरी पर रामदेव

रामायण और महाभारत पर दिए विवादित बयान पर संतों में नाराजगी

हरिद्वार । सीपीएम नेता सीताराम येचुरी के रामायण और महाभारत को लेकर दिए गए विवादित बयान पर संतों ने नाराजगी जताई है। बाबा रामदेव ने कहा कि येचुरी ने धार्मिक और सामाजिक पाप किया है।

रामदेव के साथ संतों ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को सीताराम येचुरी के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। हरिपुर कलां स्थित जनहित ट्रस्ट में शनिवार बाबा रामदेव ने कहा कि येचुरी ने धार्मिक और सामाजिक पाप किया है। इसके लिए येचुरी को माफी मांगनी चाहिए या फिर उन्हें जेल में बंद करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि यदि येचुरी में हिम्मत है तो वे ईसाई या फिर मुस्लिम समाज के खिलाफ ऐसा बयान देकर दिखाएं। जिन्होंने हिंसा के बल पर जबरन धर्म परिवर्तन करने का कार्य किया। संपूर्ण संत समाज येचुरी के बयान की निंदा करता है। पूरे राष्ट्र में कम्युनिस्टों का बहिष्कार होना चाहिए। भारत माता मंदिर के संस्थापक निवर्तमान शंकराचार्य स्वामी सत्यमित्रानंद गिरि की अध्यक्षता में संत सम्मलेन का आयोजन किया गया था। स्वामी सत्यमित्रानंद गिरि महाराज ने कहा कि सीताराम का नाम बदलकर रावण रखा जाना चाहिए। हिंदू समाज कभी हिंसक नहीं था। इस कृत्य के लिए वे माफी मांगे।

कम्युनिस्टों ने 10 करोड़ लोगों की हत्या की: रामदेव

बाबा रामदेव ने दावा किया कि पूरी दुनिया में अपने राज्य के विस्तार के लिए कम्युनिस्टों ने 10 करोड़ लोगों की हत्या की है। रामदेव ने पूछा, “क्या कम्युनिस्ट कभी इसे स्वीकार करेंगे कि हमने हिंसा और क्रूरता कर अपनी विचारधारा का प्रसार किया है।” बाबा रामदेव ने ‘ब्लैक बुक ऑफ कम्युनिज्म’ नाम की किताब का हवाला देते हुए रामदेव ने कहा कि इस पुस्तक में लिखा गया है कि साढ़े दस करोड़ लोगों को मारा गया है। सीताराम येचुरी पर सवाल उठाते हुए रामदेव गरजे और पूछा, “क्या सीताराम येचुरी ईसाई, इस्लाम के बारे में इस तरह की बात कर सकते हैं।” रामदेव ने कहा कि वो हिन्दुओं के खिलाफ ऐसा इसलिए बोल पाते हैं क्योंकि हिन्दू सहिष्णु होते हैं. रामदेव ने कहा कि कोई भी हमारे धार्मिक पुस्तकों को बदनाम नहीं कर सकते हैं।

Back to top button