उत्तर प्रदेश

बीजेपी के पूर्व सांसद बोले- सरहद पार से भी रामलला का मंदिर आएगा नजर

श्रीरामजन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ सदस्य व पूर्व सांसद रामविलास दास वेदान्ती ने शनिवार को अयोध्या में रामलला का दर्शन किया. इसके बाद पत्रकारों के सवालों पर उन्होंने कहा कि राम जन्मभूमि पर विश्व का सबसे बड़ा मन्दिर बनेगा.

वेदान्ती ने बताया कि हमने प्रस्ताव भी रखा है कि एक हजार एक सौ ग्यारह फुट ऊंचा मन्दिर बनना चाहिए. ऐसा मन्दिर बने, जिसकी लाइटें इस्लामाबाद, करांची और श्रीनगर से दिखाई पड़े. उसमें इतनी ऊंची लाइटें लगेंगी, जिससे विश्व के लोगों को पता चल जाए कि यह रामजन्मभूमि मन्दिर है.

बकौल पूर्व सांसद, जब चक्रवर्ती सम्राट महाराजा विक्रमादित्य ने इस मन्दिर का निर्माण कराया था. तो उसके शिखर पर जो चन्द्रकान्ता मणि लगी थी. वह लखनऊ से दिखलाई पड़ती थी. वेदांतीने दावा किया कि इस बार का मंदिर इससे भी भव्य होगा.

अयोध्या मामले में को लेकर सर्वोच्च न्यायालय में जो पुनर्विचार याचिकाएं डाली गई हैं. मेरे समझ से वह खारिज कर दी जायेंगी. क्योंकि पांच जजों की बेंच ने निर्णय लिखकर फैसला सुनाया है. अयोध्या में भव्य राममन्दिर का निर्माण दुनिया की कोई ताकत नहीं रोक सकती है.

Back to top button