देशराजनीति

मंच से बोले मंत्री- हर हिंदू सिर्फ कमल का बटन दबाए

राजस्थान में बीजेपी के मंत्री बोले- मुस्लिम कांग्रेस को वोट दे सकते हैं तो सारे हिंदू भाजपा को क्यों नहीं, पार्टी ने दी सफाई

नई दिल्ली :राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी तेज हो चुकी है और राजनीतिक दलों के नेता एक दूसरे के खिलाफ जमकर अपनी भड़ास निकालते दिखाई दे रहे हैं,  एक तरफ जहां राजनैतिक दल मतदाताओं को लुभाने के लिए जोर-शोर से प्रचार-प्रसार में जुटे हैं. तो दूसरी तरफ, जातीय और धार्मिक गोलबंदी की कवायद भी जारी है. अब राज्य में सत्तारूढ़ भाजपा के मंत्री धन सिंह ने एक विवादित बयान दिया है. उन्होंने कहा कि राजस्थान में जितने भी हिंदू हैं उन सभी को एकजुट बीजेपी को वोट देना है. अगर सारे मुस्लिम कांग्रेस के साथ जुड़कर मतदान कर सकते हैं तो सारे हिंदू बीजेपी के साथ जा सकते हैं और प्रचंड बहुमत से बीजेपी को जिता सकते हैं. धन सिंह के इस बयान के बाद राज्य का सियासी तापमान और बढ़ गया है. विपक्षी दल इस बयान पर हमलावर हैं.

सत्तारूढ़ बीजेपी के मंत्री धन सिंह के बयान पर विवाद मचने के बाद अब पार्टी बचाव में उतर आई है और इस पर अपनी सफाई दी है. राज्य के एक अन्य मंत्री गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि मतदाता का कोई धर्म नहीं होता है. वह सिर्फ उसी शख्स को वोट देता है जो देश के विकास के लिए कार्य करता है. हमारी पार्टी ने कभी भी धर्म के आधार पर वोट की मांग नहीं की है. आपको बता दें कि राजस्थान में चुनाव नजदीक आते ही बीजेपी और कांग्रेस के तमाम बड़े नेता राज्य में मतदाताओं को अपने साथ जोड़ने के लिए पुरजोर प्रयास कर रहे हैं. रैली, जनसंपर्क और सभाओं को जरिये ज्यादा से ज्यादा मतदाओं तक पहुंचने की कोशिश है.

24 अक्टूबर को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी राजस्थान पहुंचे थे. यहां झालावाड़ में एक जन सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा था कि किसानों की जमीन छीनकर उद्योगपतियों को पांच मिनट में दी जाती है. किसानों का न तो कर्ज माफ किया जाता है और न ही फसल का सही दाम. मोदी जी के लंबे-लंबे भाषण होते हैं सिर्फ. मोदी जी मनरेगा को गड्ढा खोदना कहते हैं. राहुल गांधी ने राफेल डील पर भी सरकार को घेरा. कहा कि HAL सरकारी कंपनी थी, उसे बर्बाद कर दिया. नरेंद्र मोदी फ्रांस गए और कहा कि अनिल अंबानी को कांट्रेक्ट देना पड़ेगा. फ्रांस के राष्ट्रपति ने यह कहा. अनिल अंबानी ने हवाई जहाज तक नहीं बनाया.

Back to top button