ख़बरदेश

पुलवामा में सेना से उड़ाये 2 आतंकी, मास्टरमाइंड गाजी ढेर

मारा गया कामरान उर्फ गाजी राशिद

जम्मू कश्मीर में पुलवामा में चल रहे एनकाउंटर में सुरक्षाबलों ने 2 आतंकवादियों को मार गिराया। आतंकियों की पहचान होनी बाकी है कहा जा रहा है कि ये आंकवादी जैश ए मोहम्मद के कमांडर गाजी रशीद और कमांडर कामरान को सेना ने ढेर किया है।
गाजी रसीदपुर पुलमावा का मुख्य साजिशकर्ता था कि कामरान उसके साथ हमले में शामिल था खबर के अनुसार कामरान और गाजी रसीदपुर बाबा के हमले के बाद भागने में कामयाब रहे थे। जबकि एक आतंकी मोहम्मद आदिल डार इस हमले में मारा गया था।

ओपरेशन के दौरान सुरक्षा बलों ने इमारत को बम से उड़ा दिया जिसमें आतंकवादी छिपे हुए थे पुरवा के पिंगला में खबर मिलने तक सुरक्षाबलों ने आतंकवादियों को मार गिराया था इससे पहले कि ऑपरेशन देर रात से सोमवार तड़के तक चला मुठभेड़ में 55 राष्ट्रीय राइफल्स के 5 जवान शहीद हो गया मुठभेड़ के दौरान एक आम नागरिक की मौत हुई है शहीदों में बीएसएनल हेड कांस्टेबल सेवाराम सिपाही गुलजार अहमद सिपाही अजय कुमार सिपाही जवान शहीद हुए थे

गाजी के मारे जाने की खबर 
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, गाजी रशीद और एक अन्य आतंकी पुलवामा हमले के बाद भागने में कामयाब रहे थे जबकि एक आतंकी मोहम्मद आदिल डार आत्मघाती हमले में मारा गया था। एजेंसियों से मिली सूचना के मुताबिक गाजी जैश के सरगना मौलाना मसूद अजहर के सबसे विश्वसनीय करीबियों में से एक है। गाजी को युद्ध तकनीक और IED बनाने का प्रशिक्षण तालिबान से मिला है और इस काम के लिए उसे जैश का सबसे भरोसेमंद माना जाता है। गाजी रशीद ही पुलवामा का मुख्य साजिशकर्ता था।

रात 12 बजे से जारी मुठभेड़
आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ कल रात 12 बजे से चल रहा है। खुफिया सूचना के आधार पर सुरक्षाबलों ने इलाके को घेर लिया था। मुठभेड़ 12 घंटे से भी ज्यादा वक्त से चल रहा है। टाइम्स नाउ के मुताबिक इलाके में अभी भी 5 आतंकी छिपे हुए हैं।

गाजी ने पिछले साल दिसंबर में पार की थी सीमा 
बताया रहा है कि गाजी रशीद 9 दिसंबर को ही सीमा पार कर कश्मीर में घुस आया था। पुलवामा हमले के बाद सुरक्षा बलों ने उसे पकड़ने के लिए व्यापक तलाशी अभियान शुरू किया था। एनकाउंटर के दौरान सुरक्षाबलों ने उस इमारत को बम से उड़ा दिया जिसमें आतंकी छिपे थे। बता दें कि पुलवामा के पिंगलिना में खबर मिलने पर सुरक्षाबलों ने आतंकवादियों को घेर लिया था।

चार जवान भी हुए हैं शहीद 
इससे पहले देर रात से सोमवार तड़के तक चली मुठभेड़ में 55 राष्ट्रीय राइफल्स के मेजर समेत चार जवान शहीद हो गए। शहीदों में मेजर डीएस ढौंडियाल, हवलदार शियो राम, सिपाही अजय कुमार और सिपाही हरि सिंह थे। सभी शहीद जवान 55 राष्ट्रीय राइफल्स के थे।

Back to top button