ख़बरदेश

पुलवामा अटैक: जब हमारे जवान शहीद तो हुर्रियत नेता भी सुरक्षित नहीं रहेंगे

Image result for हुर्रियत नेताओं

नई दिल्ली । केंद्र सरकार पाकिस्तान व इसकी खुफिया एजेंसी आईएसआई के इशारे पर काम करने वाले हुर्रियत नेताओं को दी जा रही सुरक्षा को अगले 48 घंटे में वापस ले सकती है। यह जानकारी सुरक्षा एजेंसी के सूत्रों ने दी है। कल पुलवामा हमले में घायल जवानों से मिलने गए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान के पैसे से पलनेवाले अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा की समीक्षा करने का निर्देश दिया था।
सुरक्षा को लेकर कल उच्च स्तरीय बैठक के बाद गृहमंत्री ने यह भी कहा था कि सुरक्षा बलों के काफिले के आवागमन के वक्त कोई निजी वाहन को आने की अनुमति नहीं दी जाएगी। सिंह ने कहा कि कुछ ऐसे तत्व हैं जिन्हें भारत विरोध के लिए पाकिस्तान व आईएसआई से पैसे मिलते हैं।

उन्होंने अधिकारियों से उनकी सुरक्षा सुविधा पर पुनर्विचार करने को कहा है। उन्होंने यह बात पत्रकारों से कल कश्मीर दौरे के दौरान कही थी। उल्लेखनीय है कि पुलवामा हमले के बाद कल हुई सुरक्षा बैठक के दौरान भी इस मुद्दे पर विचार किया गया था। गृहमंत्री ने कहा था कि जम्मू-कश्मीर में कुछ तत्वों के तार आईएसआई व आतंकी संगठनों से जुड़े हैं। लेकिन सरकार उन तत्वों को मुंहतोड़ जवाब देगी।

Back to top button