क्राइम

पुलिस वाली से कैदी को हुआ एकतरफा प्यार, नाकाम होने पर जेल में ही दे दी जान

मध्यप्रदेश के सतना केंद्रीय कारागार से लगातार कैदियों के आत्माहत्या करने के मामले सामने आ रहे है. यहां कैदियों की मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. लेकिन इस कैदी की आत्महत्या की वजह जेल प्रशासन की कार्यशैली नहीं बल्कि प्यार में असफलता बताई जा रही है. जी हां, कैदी जेल के अंदर वर्दीधारी महिला जेल प्रहरी (महिला पुलिसकर्मी) से एकतरफा प्यार कर बैठा था. एकतरफा प्यार में असफल होने पर जेल के कारखाने में फांसी पर झूल गया.

शनिवार को अनिल कुशवाहा नाम के सतना केंद्रीय कारागार के कैदी ने जेल के कारखाने में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. घटना की सूचना मिलने पर जेल के अंदर जिला व पुलिस प्रशासन की टीम मौके पर जांच करने पहुंच गई. जांच के दौरान मौत की वजह सब आत्महत्या ही मान रहे . लेकिन आत्महत्या की वजह कोई बताने को तैयार नहीं था.

हालांकि अनिल ने मौत से पहले एक सुसाइड नोट लिखा, जिसमे जेल प्रहरी महिला से प्रेम होना और प्रेम में सफल न होना बताया.  पुलिस ने सोसाइड नोट कब्जे में ले लिया है लेकिन मृतक के परिजन अनिल की मौत को साधारण मौत नहीं बल्कि हत्या बता रहे.

मृतक के भाई राजू कुशवाहा की माने तो अनिल जल्द रिहा होने वाला था. अनिल अपनी पत्नी की हत्या में आजीवन कारावास की सजा काट रहा था. अनिल 9 साल की सजा काट चुका था और अच्छे आचरण के चलते जेल उसकी जल्द ही सजा माफी होनी थी. मगर अचानक उसकी मौत गले नहीं उतर रही. वही जेलर एसके शुक्ला का दावा है कि मृतक ने आत्महत्या की है. मृतक का आचरण बहुत अच्छा था इसलिए जेल की जिम्मेदारी दे रखी गई थी.

 

Back to top button