देशराजनीति

Mann Ki Baat में बोले PM मोदी, ’सेवा परमो धर्मः’- ये भारत की विरासत है…

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार 28 अक्टूबर को 49वीं बार मन रेडियो कार्यक्रम मन की बात के जरिए देशवासियों को संबोधित कर रहे हैं।  प्रधानमंत्री मोदी के इस मासिक कार्यक्रम का आकाशवाणी और दूरदर्शन के सभी नेटवर्क पर प्रसारण किया जा रहा है.

प्रधानमंत्री मोदी ने इस कार्यक्रम में लोगों के साथ अपने विचार साझा किए. जिसमें उन्‍होंने गुजरात में सरदार वल्‍लभ भाई पटेल की खूबियों के बारे में बताया.साथ ही कहा कि इस बार पटेल की जयंती कुछ खास होगी.

मोदी ने ये भी क‍हा कि खेल जगत में spirit, strength, skill, stamina – ये सारी बातें बहुत ही महत्वपूर्ण हैं. यह किसी खिलाड़ी की सफलता की कसौटी होते हैं और यही चारों गुण किसी राष्ट्र के निर्माण के भी महत्वपूर्ण होते हैं.

पीएम ने कहा कि यह आश्चर्य की बात नहीं है कि हमारे सबसे पहले स्वतंत्र सेनानियों में आदिवासी समुदाय के लोग ही थे. भगवान बिरसा मुंडा को कौन भूल सकता है.

उन्‍होंने कहा कि कल ही हम देशवासियों ने ‘Infantry Day’ मनाया है. ‘#InfantryDay’ वही दिन है जब भारत के तत्कालीन गृह मंत्री सरदार पटेल के सुझाव पर भारतीय सेना के जवान कश्मीर की धरती पर उतरे थे और घुसपैठियों से घाटी की रक्षा की थी.

Live Updates:

-इसका अर्थ है, हे ईश्वर तीनों लोकों में हर तरफ शांति का वास हो जल,पृथ्वी,आकाश, अंतरिक्ष ,अग्नि,पवन ,औषधि, वनस्पति ,उपवन, अवचेतन में,सम्पूर्ण ब्रह्मांड में शान्ति स्थापित करे. जीवमात्र में, हृदय में, मुझ में, तुझ में, जगत के कण-कण में, हर जगह शान्ति स्थापित करें।

-जिस तरह बूंद-बूंद से सागर बनता है, उसी तरह छोटी-छोटी जागरुक और सक्रियता और सकारात्मक कार्य हमेशा सकारात्मक माहौल बनाने में बहुत बड़ी भूमिका अदा करता है।

-पंजाब के किसान भाई गुरबचन सिंह जी एक सामान्य और परिश्रमी किसान हैं। प्रधानमंत्री ने उनके बेटे की शादी में लड़की के परिवार से खेत में पराली न जलाने का वचन लेने की बात को अत्यंत सराहा और कहा श्रीमान गुरबचन सिंह जी के परिवार ने पर्यावरण को बचाने की एक मिसाल हमारे सामने दी है। मैंने पंजाब के एक गाँव कल्लर माजरा के बारे में पढ़ा जो नाभा के पास है.कल्लर माजरा इसलिए चर्चित हुआ है क्योंकि वहाँ के लोग धान की पराली जलाने की बजाय उसे जोतकर उसी मिट्टी में मिला

-हमारे सबसे पहले स्वतंत्र सेनानियों में आदिवासी समुदाय के लोग ही थे। भगवान बिरसा मुंडा, जिन्होंने अपनी वन्य भूमि की रक्षा के लिए ब्रिटिश शासन के खिलाफ़ कड़ा संघर्ष किया, उनको हम आज भी याद करते हैं।

-प्रधानमंत्री ने पुडुचेरी के श्री मनीष महापात्र की बहुत ही रोचक टिप्पणी “कृपया आप इस बारें में बात कीजिये कि कैसे भारत की जनजातियाँ उनके रीति-रिवाज और परंपराएँ प्रकृति के साथ सह-अस्तित्व के सर्वश्रेष्ठ उदाहरण हैं’ पर प्रकाश डाला।

-एक युवा ने दिव्यांगों की wheelchair basketball team की मदद के लिए खुद wheelchair basketball सीखा .ये जो जज़्बा है, ये जो समर्पण है – ये mission mode activity है. ‘मैं नहीं हम’ की ये भावना हम सब को प्रेरित करेगी।

-प्रधानमंत्री ने ‘Self 4 Society’ नामकपोर्टल के लांच के बारे में बताते हुए कहा ” MyGov और देश की IT और electronics industry ने अपने employees को social activities के लिए motivate करने और उन्हें इसके अवसर उपलब्ध कराने के लिए इस portal को launch किया है।

-सामाजिक कार्य के लिए जिस प्रकार से लोग आगे आ रहे हैं, वह देशवासियों के लिए प्रेरणादायक हैं. ’सेवा परमो धर्मः’- ये भारत की विरासत है।

-मैंने जकार्ता में पैरा एथलीट से मुलाकात की। इन गेमों में 72 मेडल्स जीतकर भारत ने एक नया रिकॉर्ड कायम किया है। हॉकी में भारत का सुनहरा इतिहास है। भारत ने कई महान हॉकी प्लेयर्स पैदा किए हैं। आज भी हॉकी में कई नौजवान खिलाड़ी देश का नाम रौशन कर रहे हैं। ऐसी अनगिनत जीवन कथाएँ प्रेरणा का स्रोत है, हर युवा खिलाड़ी उसका जज़्बा, New India की पहचान है।

-भारत को इस वर्ष भुवनेश्वर में पुरुष हॉकी वर्ल्ड कप 2018 के आयोजन का सौभाग्य मिला है। हॉकी वर्ल्ड कप 28 नवम्बर से प्रारंभ हो कर 16 दिसम्बर तक चलेगा। हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद से तो पूरी दुनिया परिचित है। बलविंदर सिंह सीनियर, Leslie Claudius, मोहम्मद शाहिद,उधम सिंह से लेकर धनराज पिल्लई तक हॉकी ने एक बड़ा सफ़र तय किया है. खेल प्रेमियों के लिए रोमांचक matches को देखने का यह एक अच्छा अवसर है।

-प्रधानमंत्री ने कहा कि जिस तरह खेल जगत में, spirit, strength, skill , stamina – ये सारी बातें बहुत महत्वपूर्ण हैं और एक खिलाड़ी की सफलता की कसौटी होते हैं, उसी तरह यही चारों गुण किसी राष्ट्र के निर्माण के लिए भी महत्वपूर्ण होते हैं। सी भी देश के युवाओं के भीतर अगर ये सभी गुण हों तो वो देश न सिर्फ अर्थव्यवस्था, विज्ञान और technology जैसे क्षेत्रों में तरक्की करेगा बल्कि खेलों में भी अपना परचम लहराएगा।

-31 अक्तूबर हम सबके प्रिय सरदार वल्लभभाई पटेल की जयन्ती और हर वर्ष की तरह ‘Run for Unity’ के लिए देश का युवा एकता के लिए दौड़ने को तैयार हो गया है। मेरा आग्रह है कि आप सभी बड़ी संख्या में एकता की इस दौड़ ‘Run for Unity’ में भाग लें। आपको बता दें कि यह स्टैच्यू अमेरिका की स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी से दोगुनी है। उन्होंने कहा कि इससे हर देशवासियों को गर्व का अनुभव होगा।

-27 जनवरी 1947 को विश्व की प्रसिद्ध international magazine ‘Time Magazine’ ने जो संस्करण प्रकाशित किया था, उसके cover page पर सरदार पटेल का फोटो लगा था। अपनी lead story में उन्होंने भारत का एक नक्शा दिया था और ये वैसा नक्शा नहीं था जैसा हम आज देखते हैं।

-ये एक ऐसे भारत का नक्शा था जो कई भागों में बंटा हुआ था। तब 550 से ज्यादा देशी रियासते थीं। भारत को लेकर अंग्रेजों की रूचि ख़त्म हो चुकी थी, लेकिन वो इस देश को छिन्न-भिन्न करके छोड़ना चाहते थे।

-क्या आप जानते हैं कि हिन्दुस्तान के नागरिक ये #InfantryDay क्यों मानते हैं? यह वही दिन है, जब भारतीय सेना के जवान कश्मीर की धरती पर उतरे थे और घुसपैठियों से घाटी की रक्षा की थी। कल हमने ‘Infantry Day’ मनाया है। मैं उन सभी को नमन करता हूं जो भारतीय सेना का हिस्सा हैं। मैं सैनिकों के परिवार को भी उनके साहस के लिए salute करता हूं।

मन की बात आकाशवाणी पर प्रसारित किया जाने वाला एक रेडियो कार्यक्रम है जिसके जरिये भारत के प्रधानमंत्री भारत के नागरिकों को संबोधित करते हैं। इस कार्यक्रम का पहला प्रसारण 3 अक्तूबर 2014 को किया गया।

Back to top button