राजनीति

PM मोदी ने कहा, जो मूंग और मसूर में फर्क नहीं समझते वो किसानी सिखा रहे हैं

राजस्थान विधानसभा चुनाव को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आज नागौर में रैली हो रही है। इस दौरान पीएम मोदी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए दोबारा भाजपा को मौका देने की अपील की। अपने भाषण में उन्होंने नामदार बनाम कामदार का मुद्दा उठाया। 

-आज शौर्य और श्रम की धरती नागौर पर एक कामदार, नामदार के खिलाफ लड़ाई के मैदान में है। आप ही में से एक मैं भी हूं। जो जिंदगी आपने गुजारी है वही जिंदगी मैं भी गुजार रहा हूं। न आप सोने का चम्मच लेकर पैदा हुए है न मैं सोने का चम्मच लेकर पैदा हुआ हूं। 

-जिस नामदार को ये नहीं पता कि चने का पौधा होता है कि चने का पेड़ होता है, जो नामदार मूंग और मसूर में फर्क नहीं समझते हैं, वो आज देश को किसानी सिखाते घूम रहे हैं।

-हम जनता से अपने पोते-पोतियों की भलाई के लिए वोट नहीं मांग रहे हैं। हम आपसे वोट मांग रहे हैं, यहां के जन-जन के सपनों को साकार करने के लिए, इस धरती का भला करने के लिए।

-हमारी सरकार में 1.25 करोड़ लोगों को घर मिला। 2022 तक हर किसी को घर मिलेगा।

-आज लड़ाई नामदार और कामदार के बीच है। हम वोट दे रहे हैं राजस्थान बनाने के लिए, यहां का भला करने के लिए।

-धुंआ क्या होता है ये नामदार को मालूम ही नहीं है, लकड़ी का चूल्हा कैसे जलता है ये नामदार को मालूम नहीं। मैंने बचपन में अपनी मां को लकड़ी के चूल्हे पर खाना पकाते देखा है, धुंए से आंखों से पानी कैसे निकलता है ये मैंने देखा है और इसी से मुझे उज्ज्वला योजना की प्रेरणा मिली। 

Back to top button