खेल

23 साल बाद अफरीदी ने खोला राज, सबसे तेज शतक जड़ने के लिए किस भारतीय का बल्ला लिए थे उधार ?

वो साल 1996 था. सामने टीम श्रीलंका थी. उस वक्त शाहिद अफरीदी की उम्र 16 साल बताई जाती थी. तब उन्होंने सिर्फ 37 गेंदों में तूफानी शतक जड़ा था. अब उस शतक से जुड़े कई किस्से सामने आने लगे हैं.अपनी आत्मकथा गेम चेंजर में खुद शाहिद अफरीदी ने बताया कि उन्होंने जो शतक जड़ा था वो किसी और के नहीं बल्कि सचिन तेंदुलकर के बल्ले से जड़ा था.

दरअसल, सचिन अपने बल्ले जैसा ही एक बल्ला बनवाना चाहते थे. इसके लिए उन्होंने अपना बैट वकार यूनुस को दिया और सियालकोट से ऐसा ही एक बैट बनवाने की इच्छा जताई. किताब में  अफरीदी ने लिखा, ‘लेकिन सोचिए वकार ने बल्ला सियालकोट ले जाने से पहले क्‍या किया? उन्‍होंने बल्‍लेबाजी के लिए जाने से पहले वह बल्‍ला मुझे दिया. तो नैरोबी में श्रीलंका के खिलाफ शाहिद अफरीदी ने सचिन के बल्‍ले से पहला शतक लगाया.’

अफरीदी के श्रीलंका के खिलाफ उस शतकीय इंनिंग की बात करें तो इसमें 11 छक्के और 6 चौके थे. 255 के स्ट्राइक रेट के साथ इस पारी में अफरीदी ने 40 गेंदों में 102 रन की पारी खेली थी.

वैसे अपनी किताब में अफरीदी ने 1996 में बनाए इस शतक को लेकर अपनी उम्र पर भी स्पष्टीकरण दिया है. उन्होंने कहा कि उस वक्त उनकी उम्र 21 थी, 16 साल नहीं.

Back to top button