खेल

23 साल तक अफरीदी पूरी दुनिया से किए गजब फरेब, अब ICC छीनेगी उनसे ये बड़ा रिकॉर्ड !

 पाकिस्तान किक्रेट टीम के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी ने 23 साल तक ICC को धोखे में रखने के बाद अपनी सही उम्र का खुलासा किया है. अफरीदी ने आत्मकथा ‘गेम चेंजर’ में लिखा, “साल 1996 में नैरोबी में श्रीलंका के खिलाफ जब मैंने रिकॉर्ड 37 गेंदों में शतक जड़ा था तब मैं 16 साल का नहीं था, तब मेरी उम्र 21 साल थी. अफरीदी नैरोबी में मैच खेलने के बाद वेस्टइंडीज पहुंचे थे. यहां उन्होंने पाकिस्तान के लिए अंडर-19 सीरीज खेली, जबकि उस समय वह अंडर-19 खिलाड़ी नहीं थे.”

अफरीदी ने अपनी किताब में जन्मतिथि 1975 बताई है, लेकिन आधिकारिक रिकॉर्ड में यह 1 मार्च 1980 है. उनकी सही उम्र और अधिकारिक रिकॉर्ड में पांच साल का अंतर है. अफरीदी की उम्र 16 साल का होने का दावा भ्रम पैदा करने वाला है, क्योंकि अगर वह 1975 में पैदा हुए, तो रिकॉर्ड शतक बनने के दौरान उनकी उम्र 21 साल होनी चाहिए, जबकि उन्होंने इस समय अपनी उम्र 16 साल बताई है.

सवाल यह है कि अफरीदी ने अपनी उम्र को लेकर पूरे करियर के दौरान चुप्पी क्यों साध रखी थी. उन्होंने अपनी सही उम्र का खुलासा खुद कर दिया है, तो क्या आईसीसी इस संबंध में कोई फैसला लेगी? ICC सबसे कम उम्र में सबसे तेज शतक बनाने वाले रिकॉर्ड में संशोधन करते हुए ये रिकॉर्ड अफगानिस्तान के उस्मान गनी के नाम कर सकती है.

बता दें कि शाहिद अफरीदी के खिलाफ सबसे कम उम्र में सबसे तेज शतक बनाने का विश्व रिकॉर्ड है. अफरीदी ने 16 साल 217 दिन की उम्र में श्रीलंका के विरुद्ध 1996 में 37 गेंदों पर 100 रन बनाए थे. अफरीदी के बाद अफगानिस्तान के उस्मान गनी ने 17 साल 242 दिन, पाकिस्तान के इमरान नजीर ने 18 साल 121 दिन, पाकिस्तान के सलीम इलाही ने 18 साल 312 दिन और बांग्लादेश के तमीम इकबाल ने 19 साल 2 दिन की उम्र में ये रिकॉर्ड बनाए है.

Back to top button