बड़ों की बातें

सिर्फ ऐसी लड़कियां देती है बेड पर तगड़ा परफॉरमेंस, जानिए इनके लक्षण 

शारीरिक सम्बन्ध तो मनुष्य की प्रेम-अभिव्यक्ति है, जिसे उपर्युक्त समय और परिवेश में करते रहना चाहिए | प्रेम संबंधों के स्थायित्व की प्रतिभूति है सेक्स; यह सभी इन्द्रियों का एक सम्पूर्ण व्यायाम है | सेक्स में संतुष्टि एक बहुत ही आवश्यक पहलु है इसके लिए दीर्घ मिलन तो आवश्यक है ही साथ ही दो अवस्थाएं भी आवश्यक हैं, तो आइये जाने कौन सा समय होता है जब बनाये गए शारीरिक सम्बन्ध सबसे प्रभावी होते हैं | बताते चले सेक्स के मामले में इंडियाना यूनिवर्सिटी ने स्कूल बंक करना, टेस्ट में फेल होना और बिना कंडोम के सेक्स करने के बीच ऐसा सम्बंध खोजा है जो वाकई सोचने पर मजबूर कर देगा।

शोध में मिली जानकारी के अनुसार 

  • सेक्स के एक और सच पर्दा उठाने का दावा किया है इंड‍ियाना यूनिवर्सिटी ने। यहां 14 से 17 उम्र की लड़कियों की 80 हजार डायरी की स्टडी करके इस दावे को पेश किया गया है। जिसे पढ़ने के बाद आम जन भी एक बार जरूर इस पहलू पर विचार करेगा।
  • युवाओं के बीच किया गया यह अपनी तरह का पहला सर्वे है जिसमें लड़कियों के स्कूल की दिनचर्या और रिश्तों को लेकर आदतें समझने की कोशिश की गईं हैं। 10 साल में पूरे हुए इस अध्ययन के लिए 387 लड़कियों की डायरियों से रोमांटिक और फिजिकल रिलेशन को लेकर उनके व्यवहार को समझने प्रयास किया गया।
  • स्टडी में शामिल लड़कियां अपने हर छोटे-बड़े व्यवहार को रिसर्चर से साझा करती थीं। स्स्टडी में सामने आया कि जो युवा लड़कियां स्कूल बंक करती हैं और टेस्ट में फेल होती हैं, ऐसी लड़कियां के स्कूल बंक करने और टेस्ट में फेल होने वाले दिन बिना कंडोम के सेक्स करने के मामले ज्यादा पाए गए हैं। वहीं सुरक्ष‍ित यौन सम्बंध बनाने वाली लड़क‍ियों का शैक्ष‍िक प्रदर्शन बेहतर पाया गया।
Back to top button