गैजेट ज्ञान

अब मिनटों में बनेगा PAN कार्ड, एक क्लिक में जानिए क्या है प्रोसेस

आज चाहे आयकर रिटर्न भरना हो, बैंक में खाता खोलना हो या कोई भी आर्थिक व्यवहार करना हो, हर जगह परमानेंट एकाऊंट नंबर (पैन) की आवश्यकता होती है। अब तक इसके लिए एक फार्म भरना होता था। साथ ही आवश्यक दस्तावेज फोटो आदि देने होते थे। इसे विभाग को भेजा जाता था और करीब 15 से 20 दिनों में पेनकार्ड डाक से आपके घर पहुंचता था। अब विभाग ने इसे और सरल बना दिया है। यदि आधारकार्ड या डिजिटल सिग्नेचर हैं, तो आयकर विभाग इंस्टेंट ई-पेन उपलब्ध करा देगा।

कैसे करें आवेदन
यदि डिजिटल पेन चाहिए है तो आवेदन विभाग में जमा करने की आवश्यकता नहीं है। https://www.pan.utiitsl.com/PAN/newA.do पर क्लिक कीजिए। यहां नए पेनकार्ड (फार्म 41अ) के लिए आवेदन पर क्लिक करें। डिजिटल मोड को सिलेक्ट करें। यहां दो विकल्प मिलेंगे। फिजिक्ल मोड या डिजिटल मोड। इंस्टेंट ई-पेन के लिए डिजीटल मोड को सिलेक्ट करें। इसमें आवेदक को विभाग में जाकर आवेदन, दस्तावेज या फोटो देने की आवश्यकता नहीं होती।

यदि फिजिक्ल मोड सिलेक्ट किया है तो आवेदन व दस्तावेज विभाग में जमा कराना आवश्यक होगा। डिजिटल मोड में आवेदन \”आधार’ आधारित हस्ताक्षर से पूर्ण होगा। साथ ही आवश्यक दस्तावेज (केवाईसी) से ले लिए जाएंगे। इसके लिए आधार अपडेट होना आवश्यक है। साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि आधार में मोबाइल नंबर भी अपडेट हो, क्योंकि एक ओटीपी आधार से जुड़े मोबाइल नंबर पर ही आएगी। हस्ताक्षर आधारकार्ड के अनुसार या डिजिटल दिए जा सकते हैं। आवेदक को हस्ताक्षर की तथा स्वयं की एक फोटो भी अपलोड करनी होगी।

डिजिटल और फिजिकल दोनों का पेन का विकल्प
आवेदन फार्म में दोनों विकल्प हैं कि फिजिकल और ई-पेन या केवल ई-पेन लेना है। आवेदक दोनों में से कोई एक विकल्प को चुन सकता है। दोनों के लिए अलग-अलग शुल्क है। चयन के अनुसार शुल्क भरना होगा।

Back to top button