ख़बरदेश

नीरव मोदी की गिरफ्तारी होती ही एक्टिव हुईं एजेंसियां, भारत लाने की कोशिशें तेज

पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी को लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया है. घोटाले को अंजाम देकर ब्रिटेन में रह रहे नीरव मोदी के खिलाफ लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने हाल ही में गिरफ्तारी वॉरंट जारी किया था. 13 हजार करोड़ रुपए के पंजाब नैशनल बैंक स्‍कैम में भारतीय जांच एजेंसियों को नीरव मोदी की तलाश थी. सोमवार को ब्रिटेन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने नीरव मोदी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया था. पुलिस 25 मार्च तक नीरव मोदी को कोर्ट में पेश करेगी.

लंदन में नीरव मोदी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी होने की जानकारी सोमवार को ही भारतीय एजेंसियों को सौंपी गई थी.  और अब उसकी गिरफ्तारी के बाद भारत सरकार ब्रिटेन से उसके प्रत्यर्पण का प्रयास करेगी. सूत्रों के मुताबिक भारत से CBI और प्रवर्तन निदेशालय की एक टीम लंदन रवाना होगी.

इस बीच CBI और ED की टीम लगातार UK अथॉरिटी और लंदन में मौजूद भारतीय हाई कमीशन के संपर्क में है. वैसे नीरव मोदी को पहले वेस्टमिंस्टर कोर्ट में पेश किया जाएगा. वहां नीरव मोदी अपने वकीलों के माध्यम से जमानत की अपील कर सकता है.

उसके बाद कोर्ट में नीरव के प्रत्यर्पण की सुनवाई शुरू होगी. प्रत्यर्पण की सुनवाई कितने दिनों में पूरी होगी, इसका कोई वक्त नहीं है. इसमें एक महीने से एक साल तक लग सकता है. लेकिन कुल मिलाकर ये बात बोली जा सकती है कि अब उसका प्रत्यर्पण से बच पाना आसान नहीं है.

Back to top button