रामपुरः सपा का दामन थामे BJP नेता, आजम बोले- इतिहास याद रखेगा..

Rampur Bye Election

उत्तर प्रदेश में जैसे-जैसे रामपुर विधानसभा उपचुनाव में मतदान का दिन करीब आता जा रहा है. वैसे ही सियासी पारा काफी बढ़ता जा रहा है. जहां अभी दो दिन पहले ही आज़म खान के मीडिया प्रभारी सहित कई नेता समाजवादी पार्टी के खेमे से बीजेपी के खेमे में पहुंचे. तो आज़म खान ने भी सियासी दांव खेल दिया है. हालांकि, अब आज़म खान के मीडिया प्रभारी के बदले बीजेपी के पूर्व सांसद नेपाल सिंह के प्रतिनिधि सरदार संतोष सिंह खैरा को समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराई गई है.

दरअसल, लगातार बीजेपी में जा रहे सपा नेताओं के बाद आज समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता आज़म खान ने तक़रीबन सौ लोगो को समाजवादी पार्टी में शामिल किया गया. जिनमे बीजेपी के पूर्व जिला पंचायत सदस्य, पूर्व जिला उपाध्यक्ष ओर चेयरमैन केंद्रीय उपभोक्ता सहकारी भंडार और बीजेपी के पूर्व सांसद नेपाल सिंह के प्रतिनिधि सन्तोष सिंह खेरा सहित कई नेताओं ने समाजवादी पार्टी ज्वॉइन की है.

आजम खांन बोले- रामपुर रच रहा अन्याय का इतिहास

इस मौके पर आज़म खांन ने मंच से संबोधन भी किया. उन्होंने संबोधन करते हुए कहा की शहर से हमारे समाज के लोग शामिल हो रहे है, जिनको ज़माना बड़ी हीन भावना से देख रहा है. लेकिन समाजवादी पार्टी ने इंसानों के बीच दीवार खड़ी नही की है. चुनाव आते है और चले जाते है. लेकिन रामपुर एक अन्याय का इतिहास रच रहा है. जिसपर आने वाली सादिया खून के आंसू रोएंगी.

ज़ुल्म करने और सहने वालो को आने वाला इतिहास याद रखेगा. उन्होंने कहा कि चुनाव लोकतंत्र का पर्व कहा जाता है. लेकिन क्या हो रहा है हम उसका एहसास करे हालात का मुकाबला करे. ऐसी फतेह करे जिससे आने वाले लोगो को एहसास हो कि लोकतंत्र को दमनतंत्र से दबाया नहीं जा सके.

आज़म खान ने BJP छोड़कर आए लोगो को दिलाई सदस्यता

वहीं, आज़म खांन ने सभी के गले में सपा की पट्टी डालकर समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराई. इस दौरान समाजवादी पार्टी के लोगो का कहना है कि जिस तरह से लोग बीजेपी से समाजवादी पार्टी में शामिल हो रहे है. इससे रामपुर विधान सभा उपचुनाव पर पॉजिटिव असर देखने को मिलेगा. बता दें कि, आजम खान को हेटसपीच मामले में रामपुर की एमपी एमएलए कोर्ट से 3 साल की सज़ा के बाद विधायकी रद्द हुई है.

ऐसे में चुनाव आयोग ने उपचुनाव की घोषणा की है. वहीं, समाजवादी पार्टी की ओर से आसिम राजा जबकि बीजेपी से आकाश सक्सेना चुनावी मैदान में उतरे है. हालांकि, अब देखना दिलचस्प होगा कि आगामी 5 दिसम्बर को होने वाले मतदान में लोग किसका साथ देते है.