हरियाणा में कोरोना-ब्लास्ट, 24 घंटों के आंकड़े टेंशन देने वाले

हरियाणा में कोरोना कंट्रोल नहीं हो पा रहा। अगस्त 2021 में जहां कोरोना केस 10 से 20 मरीज प्रतिदिन के हिसाब से मिल रहे थे, वहीं अब अगस्त 2022 में प्रतिदिन मिल रहे कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1 हजार तक आ चुका है। 15 अगस्त को प्रदेश में कोरोना के 709 नए केस मिले। पिछले साल इस दिन यह संख्या मात्र 15 रही थी। हालात यह है कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से जितने ज्यादा सैंपल लिए जाते हैं, पॉजिटिव मरीजों की संख्या भी उसी हिसाब से बढ़ जाती है। गनीमत है कि अभी कोरोना से मौत न के बराबर है, लेकिन हफ्ता-10 दिन में किसी न किसी की मौत की खबर जरूर मिल रही है।

बता दें कि 10 अगस्त को कोरोना संभावित 16466 व्यक्तियों के सैंपल लिए गए। इनमें से 1145 व्यक्ति कोरोना पीड़ित मिले। इसके बाद से स्वास्थ्य विभाग के सैंपलों की संख्या लगातार घट रही है। 15 अगस्त को 7689 सैंपल लिए और इस दिन कोरोना पॉजिटिव केसों की संख्या 709 मिली। वर्तमान में हरियाणा में कोरोना का पॉजिटिविटी रेट 5.61 से लेकर 7.59 तक चल रहा है।

गुरुग्राम और फरीदाबाद को छोड़ दें तो इस समय कोरोना कुछ दूर दराज के जिलों में भी लोगों को NCR क्षेत्र के मुकाबले ज्यादा चपेट में ले रहा है। गुरुग्राम में सोमवार को कोरोना के 357, फरीदाबाद में 97 केस पॉजिटिव मिले। इसी प्रकार दिल्ली से सटे सोनीपत में केवल 10 नए मरीज सामने आए, वहीं हरियाणा के मध्य में बसे जींद में कोरोना के 35, यमुनानगर में 49 और चरखी दादरी में 46 नए केस सामने आए। यह आंकड़ा कोरोना के मामले में चिंता बढ़ाने वाला है।

हरियाणा में 15 अगस्त को जहां नए 709 मरीज मिले, वहीं इसके साथ ही कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 4583 हो गई है। इनमें से 170 मरीजों को ICU में रख गया है। कोरोना काल में अब तक 10 लाख 43 हजार 289 व्यक्ति कोरोना ग्रस्त मिल चुके हैं। इनमें से 10 लाख 28 हजार 29 व्यक्ति जहां ठीक हुए वहीं सरकारी आंकड़ों में 10 हजार 654 व्यक्ति अपनी जान गवां चुके हैं। साथ ही 4583 का अभी इलाज चल रहा है।