महाराष्ट्रः सुर बदल दिए राज्यपाल, शिवाजी महाराज का ऐसे किया गौरव गान

जब विवाद बढ़ा और अपनी ही पार्टी के नेता उनके बयान की आलोचना करने लगे, जब उनके खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट में फोजदारी जनहित याचिका दायर कर दी गई और उनके खिलाफ महाराष्ट्र भर में प्रदर्शन होने लगे और केंद्र की बीजेपी सरकार से छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज संभाजी राजे ने भी मीडिया के माध्यम से अपील की कि राज्यपाल को महाराष्ट्र से बुला लें, तब जाकर महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को यह बात समझ आई कि उन्होंने महाराष्ट्र के लोगों के कोर सेंटिमेंट को गलत तरीके से टच कर दिया है.

आज उन्होंने इस गलती को सुधारते हुए शिवाजी महाराज का गौरवगान किया है. पांच दिनों पहले उन्होंने डॉ. भीमराव आंबेडकर मराठवाड़ा विश्वविद्यालय में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और एनसीपी प्रमुख शरद पवार को डी.लिट की उपाधि दिए जाने से संबंधित कार्यक्रम में कहा था कि छत्रपति शिवाजी महाराज तो पुराने जमाने के आदर्श हैं. आज के आदर्श गडकरी हैं. इसके बाद राज्य भर में विरोध प्रदर्शन हुए. आज भूल सुधारते हुए राज्यपाल कोश्यारी ने कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज की वजह से भारत दुनिया से आंखें मिला पाया, सर उठा पाया.

पहले विवादास्पद बयान, अब छत्रपति शिवाजी महाराज का गौरवगान

आज एक कार्यक्रम में राज्यपाल ने कहा कि भारत में समय-समय पर अनेक लोग आए. छत्रपति शिवाजी महाराज, महाराणा प्रताप, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, महात्मा गांधी इन सबके प्रयासों की वजह से भारत दुनिया के सामने स्वाभिमान से सर उठा पाया. उन्होंने कहा, ‘समय-समय पर लोग आए. उन सबके प्रयास से लगा कि भारत अब सर उठाने लगा है. फिर इसका सिर ऊंचा होने लग गया है. इस देश की जो संस्कृति है, इस देश का जो संस्कृत है, इस देश के जो संस्कार हैं, वो अजर-अमर हैं.’

‘बस अब मुझे वापस जाना है’

महाराष्ट्र के विधानसभा में विपक्षी नेता अजित पवार ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के विवादास्पद बयान को लेकर आज अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि उन्हें ईश्वर सद्बुद्धि दे. इसके बाद अजित पवार का एक संस्मरण सोशल मीडिया में वायरल होने लगा. उन्होंने राज्यपाल कोश्यारी से राजभवन में मुलाकात का एक किस्सा सुनाते हुए कहा था कि जब वे उनके वहां जाकर मिले थे तो उन्होंने कहा था कि, ‘बस अब मुझे वापस जाना है.’ सोशल मीडिया में कहा जा रहा है कि कहीं वापस जाने के लिए तो नहीं, राज्यपाल विवादास्पद बयान दे रहे हैं.