‘जूते-चप्पल’ वाली राजनीति: नीतीश को घेरी बीजेपी तो जवाब में राजनाथ की फोटो दिखाई जेडीयू

बिहार में जेडीयू और बीजेपी के बीच का पुराना गठबंधन टूट गया है। इसी बीच बीजेपी ने जेडीयू के नेता और बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार पर चप्पल पहन कर झंडा फहराने का आरोप लगाया। उसका पलटवार करते जेडीयू ने बीजेपी के नेता और भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ पर जूता पहन कर झंडा फहराने का आरोप लगा दिया। अब दोनो दलों के नेता एक दूसरे को नीचा दिखाने में अपनी एकजुटता दिखा रहे हैं।

दरअसल बिहार बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने आज एक तस्वीर साझा की। इस तस्वीर में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार चप्पल पहन कर झंडोत्तोलन कर रहे हैं। तस्वीर सांझा कर संजय जायसवाल ने इसे तिरंगा का अपमान बताया। अब जवाब देने की बारी थी जेडीयू की। जेडीयू ने भी चप्पल का जवाब जूते से दिया है। जेडीयू की तरफ से मोर्चा संभालते हुए नीरज कुमार ने भी एक तस्वीर सांझा की। इस तस्वीर में राजनाथ सिंह जूता पहन कर झंडा फहराते हुए दिख रहे है। इस तरह नीरज कुमार ने चप्पल का जवाब जूते से दिया।

संजय जायसवाल ने सोशल मीडिया पर नीतीश कुमार की जो फोटो डाली वो मुख्यमंत्री आवास का है। झंडोत्तोलन करते समय मुख्यमंत्री ने चप्पल पहन रखा है। संजय जायसवाल ने लिखा है कि आजादी के अमृत महोत्सव पर किसी भी सरकारी स्कूल अथवा कार्यालय में कोई सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं होने का आदेश दिया गया। इसके बाद अब राष्ट्रीय ध्वज को अपमानित कर रहें हैं। अब यह भी कहेंगे कि महीनों से भाजपा मुझे प्रताड़ित कर रही थी, उसके कारण मैं राष्ट्रीय ध्वज का सम्मान भूल गया।

नीरज कुमार ने शेयर की फोटो।

इसके जवाब में जेडीयू के नीरज कुमार ने राजनाथ सिंह का जूता पहन झंडोत्तोलन करने वाली तस्वीर सांझा की। यह तस्वीर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के दिल्‍ली स्थित सरकारी आवास की है। तस्वीर सांझा करते हुए लिखा कि संजय जायसवाल जी फिर फंसे ? आपने अपने फेसबुक पोस्‍ट पर स्‍वतंत्रता दिवस के अवसर को भी राजनीति का एजेंडा बना दिया। आपने राष्‍ट्रीय ध्‍वज का अपमान जैसा घिनौने शब्‍द का इस्‍तमाल कर राष्‍ट्रीय पर्व को कलंकित किया है। अब आपको दिखाते हैं आईना।

नीरज कुमार ने संजय जायसवाल को कहा है कि स्‍वतंत्रता आंदोलन, राष्‍ट्रीय ध्‍वज का इतिहास, झण्‍डोतोलण का प्रक्रिया व परंपरा की जानकारी ग्रहण कर ही फेसबुक पोस्‍ट करें, वरना आप बेनकाब होते रहेंगे। वर्षों से बीजेपी और जेडीयू बिहार में एक साथ राजनीति करती आई है। इतने पुराने रिश्ते टूटने पर दोनो दलों के नेता बौखला गए है। इसी का परिणाम है की चप्पल का जवाब जूते से दिया जा रहा है।