बेकाबू हुआ कोरोनाः चीन में 24 घंटों में 30 हजार नए केस, लॉकडाउन होने लगे बड़े शहर

चीन में कोरोना वायरस के मामले फिर से बढ़ते दिख रहे हैं और महामारी की शुरुआत के बाद से इस देश में रोजाना दर्ज हो रहे कोविड मामले अब अपने उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है. आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, देश में एक दिन में 30 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं. बढ़ते मामलों को देखते हुए चीन में फिर से कई तरह की पाबंदियां लगाई जा रही है. वहीं झोंगझोउ में लॉकडाउन समेत कई सख्त कोविड नियमों और वेतन विवाद को लेकर जबरदस्त नाराजगी देखी गई और कर्मचारियों तथा पुलिसकर्मियों के बीच झड़प भी हुई.

नेशनल हेल्थ ब्यूरो ने कहा कि चीन में बुधवार को 31,454 मामले दर्ज किए जिसमें 27,517 मामले बिना किसी लक्षण के थे. हालांकि ये मामले चीन की 1.4 बिलियन की विशाल आबादी की तुलना में यह संख्या अपेक्षाकृत बेहद कम है, लेकिन बीजिंग की सख्त शून्य-कोविड पॉलिसी के तहत, छोटे-छोटे मामलों के सामने आने के बाद पूरे शहरों को बंद किया जा सकता है और कोरोना से संक्रमित लोगों को बेहद सख्त क्वारंटीन में रखा जा सकता है.

अप्रैल के बाद चीन में डेली केस में रिकॉर्ड वृद्धि

कोरोना के मामले के तीसरे साल में जाने के बीच चीन में एक के बाद एक पाबंदियों और सख्त गाइडलाइंस ने लोगों को थका दिया है और गुस्से में भी भर दिया है. लगातार पाबंदियों ने दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देश में छिटपुट विरोध और उत्पादकता के स्तर को प्रभावित किया है.

अब बुधवार को एक दिन में 31,454 दर्ज डेली केस अप्रैल के मध्य में दर्ज किए गए 29,390 मामलों से कहीं अधिक हैं, जब मेगा सिटी शंघाई में खस्त लॉकडाउन लगा दिया गया था और इस दौरान स्थानीय लोगों को खाना खरीदने और मेडिकल सुविधा हासिल करने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा था.

आईफोन फैक्टरी में प्रदर्शनकारी कर्मचारियों को पीटा गया

दूसरी ओर, चीन स्थित एप्पल आईफोन के दुनिया के सबसे बड़े कारखाने में कर्मचारियों को कोरोना वायरस के कारण लागू प्रतिबंधों के बीच संविदा संबंधी विवाद के चलते पीटा गया और हिरासत में रखा गया. सोशल मीडिया पर बुधवार को पोस्ट किए गए कुछ वीडियो में यह नजर आ रहा है और प्रत्यक्षदर्शियों ने भी यह जानकारी दी.

चीनी सोशल मीडिया पर उपलब्ध झोंगझोउ स्थित कारखाने के वीडियो में नकाब पहने हजारों प्रदर्शनकारी सफेद सुरक्षात्मक सूट पहने पुलिसकर्मियों का सामना करते नजर आ रहे हैं. एक व्यक्ति के सिर पर डंडा मारा गया और एक अन्य को उसके हाथ पीछे की ओर बांधकर ले जाया गया.सोशल मीडिया पर की गई पोस्ट में कहा गया कि ये लोग संविदा के उल्लंघन का विरोध कर रहे थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here